बड़ा खुलासा: युवती का धड़ बक्से में रखकर साइकिल से 30 किलोमीटर घूमा

अपने गुनाह को छिपाने के लिए एक कातिल युवती के धड़ को बक्से में रखकर साइकिल पर लेकर 30 किलोमीटर तक घूमा। सुनसान जगह देखकर बक्से में बंद धड़ और साइकिल मौके पर छोड़कर आरोपी फरार हो गया। इस दौरान वह दिल्ली के अतिसुरक्षित और भीड़भाड़ वाले इलाके से भी गुजरा, लेकिन किसी को भनक तक नहीं लगी। महेंद्रा पार्क पुलिस कातिल की तलाश में जुटी है।

आठ जून की दोपहर लोगों ने जहांगीरपुरी मेट्रो स्टेशन के पास ट्रांसफार्मर किनारे लोहे का बक्सा लावारिस पड़ा देखा। पास में ही साइकिल पड़ी थी। लोगों को अनहोनी का शक होने पर उन्होंने महेंद्रा पार्क पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची। बक्से को खोलकर देखा तो भौचक्की रह गई। बक्से में कम्बल में लिपटी 20-25 साल के बीच की युवती का धड़ पड़ा था। शरीर पर कपड़ा नहीं था।

350 से अधिक सीसीटीवी कैमरे की जांच

महेंद्रा पार्क पुलिस को जब सुराग नहीं मिला तो उन्होंने घटनास्थल के आसपास के लगे फुटेज को खंगालना शुरू किया। फुटेज को देखकर पुलिस ने हत्यारे का मार्ग ढूंढ़ना शुरू किया। हत्यारा आसपास का नहीं था। फुटेज की कड़ियां जोड़ते हुए पुलिस सब्जी मंडी-तीस हजारी-सदर बाजार-अजमेरी गेट- आईटीओ होते हुए महारानी बाग तक पहुंच गई। हत्यारा साइकिल के साथ महारानी बाग में आखिरी बार दिखा।

सुनसान जगह देखकर बक्सा फेंका फुटेज देखकर ऐसा लग रहा है कि हत्यारा बक्से में लाश रखकर उसे ठिकाने लगाने के लिए जगह देख रहा था। उसे हर जगह भीड़ मिली, इस वजह से वह साइकिल से लगातार चलता रहा। अजमेरी गेट, सदर बाजार, तीस हजारी से होते हुए वह जब जहांगीरपुरी मेट्रो स्टेशन के आगे आ पहुंचा तो उसे सुनसान जगह दिखाई पड़ी। मौका देखकर वह बक्सा और साइकिल छोड़कर फरार हो गया।