मांगी थी हाथ घड़ी मिला लंच बॉक्स: ओएफके में हीरक जयंती पर कर्मचारियों को उपहार

Advertisements

जबलपुर, विशेष प्रतिनिधि। अपनी स्थापना के 75वें वर्ष में हीरक जयंती मना रही आयुध निर्माणी खमरिया में प्रबंधन कर्मचारियों का उपहार स्वरूप लंच बॉक्स बांट रहा है। गुजरात की एक कंपनी को दिये गये आदेश के बाद आज कल करीब 6 हजार लंच बाक्स निर्माणी में आ जाएंगे। फिर इन्हें कर्मचारियों को वितरित किये जाएंगे।
उल्लेानीय है कि आयुध निर्माणी खमरिया में 75वर्ष पूर्ण होने पर प्रबंधन ने सभी कर्मचारियों यूनियन और एसोसिएशनों की बैठक आयोजित की थी जिसमें निर्णय लिया गया था कि आयुध निर्माणी की हीरक जयंती को धूमधाम और भव्यता से मनाया जाए। इसके लिए विभिन्न कार्यक्रमों और खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है।

इसी दौरान बैठक में उपस्थित सभी यूनियन और एसोसिएशनों ने प्रबंधन से मांग की थी कि निर्माणी के 75 वर्ष सफलता पूर्वक संचालन और कर्मचारियों के समर्पण और योगदान का मूल्यांकन करने के उद्देश्य से उन्हें स्मृति प्रतीक स्वरूप हाथ घड़ी प्रदान की जाए।

कर्मचारी संगठनों और एसोसिएशनों की इस मांग पर प्रबंधन ने चुप्पी तो साध ली थी लेकिन इसके लिए स्पष्ट तौर पर मना भी नहीं किया गया था। बाद में कोलकाता स्थित मुख्यालय से खमरिया प्रबंधन ने कर्मचारियों को टिफिन लंच बॉक्स देने का निर्णय लिया था विधिवत प्रक्रिया के बाद गत दिवस गुजरात की कंपनी ने लंच बॉक्स की आपूर्ति की सूचना दी।

उसी दिन से कर्मचारियों में हर्ष व्याप्त है और वे निर्माणी में लंच बॉक्स आने का इंतजार कर रहे हैं। कर्मचारियों का कहना है कि बात ये नहीं कि उपहार छोटा या बड़ा है। अपितु इस बात की प्रसन्नता है कि प्रबंधन ने उनके योगदान को स्वीकार किया है। यहां यह उल्लेख भी जरूरी है कि निर्माणी में आज भी ऐसे कर्मचारी कार्यरत हैं जिनकी पूर्व पीढ़ी द्वितीय विश्वयुद्घ के दौरान कार्यरत थे और वे काम के दौरान विस्फोट में दिवंगत या स्थाई विकलांग हो गये थे।
बहरहाल ओएफके में उपहार को लेकर हर्ष व्याप्त है। चूंकि इन दिनों निर्माणी में चुनाव का मौसम है। लिहाजा प्रत्येक संगठन इस उपहार को अपनी उपलब्धि बता रहा है।

Advertisements