हैलो…हैलो…!! No Reply : CM हेल्पलाइन में, कहीं आपकी शिकायत भी तो पेंडिंग नहीं

वेब डेस्‍क। शिवराज सरकार के दौरान आम लोगों की समस्याएओं के समाधान के लिए शुरू की गई सीएम हेल्पलाइन सुस्त पड़ी है. शिकायतें तो रोज़ दर्ज हो रही हैं लेकिन उनका निपटारा नहीं हो रहा है. शिकायतों का अंबार लग चुका है. लाखों शिकायतें पेंडिंग हो चुकी हैं.

सीएम हेल्पलाइन, पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक थी.आम आदमी को एक फोन पर समस्याओं से छुटकारा मिले. उन्हें सरकारी दफ्तरों के चक्कर ना लगाना पड़ें, इसी मक़सद से 2014 में सीएम हेल्पलाइन-181की शुरुआत की गयी थी. लेकिन सरकार बदलते ही स्टाफ ने हेल्प करना बंद कर दिया. ये हाल हो गया है कि सारे विभागों की कुल मिलाकर 2लाख 98 हजार शिकायतें पेंडिंग पड़ी हैं.

सभी सरकारी विभागों की शिकायत पेंडिंग

शिकायतें नहीं सुनी गयीं तो लोगों ने शोर शुरू कर दिया. फिर सीएम हेल्पलाइन ने सभी विभागों के नोडल अधिकारियों को चिट्ठी लिखी और शिकायतें जल्द सुलझाने के लिए कहा. सबसे ज्यादा शिकायतें राजस्व विभाग और पंचायत ग्रामीण विकास विभाग में पेडिंग हैं.

विभिन्न विभागों की पेंडिंग शिकायतें
विभाग शिकायतें
राजस्व विभाग – 44775
पंचायत एवं ग्रामीण विकास 41203
वित्त विभाग 26215
लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण 25231
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति 20926
नगरीय विकास 19716
किसान कल्याण 17719
उर्जा विभाग 13535
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी 11966
गृह विभाग 10723
सामान्य प्रशासन 5002
सहकारिता विभाग 5942
महिला एवं बाल विकास 5000
वन विभाग 4831
सामाजिक न्याय 4342
लोक निमार्ण विभाग 2788
चिकित्सा शिक्षा विभाग 2666
आदिम जाति कल्याण विभाग 2079
उद्यानिकी,खाद्य प्रसंस्करण 1748
जल संसाधन विभाग 1698
उच्च शिक्षा विभाग 1563
परिवहन विभाग 1134
पशुपालन 1094
अजा कल्याण 1234
शिकायतों के अंबार पर मंत्री जीतू पटवारी ने कहा जनता को सुविधाएं मिलनी चाहिए. हेल्पलाइन किसी भी सरकार ने शुरू की है इससे फर्क नहीं पड़ता है.समस्याओं का जल्द निपटारा कर अधिकारियों से रिपोर्ट ली जाएगी.

Enable referrer and click cookie to search for pro webber