राष्ट्रपति कोविंद की बहू को बीजेपी ने नहीं दिया टिकट, निर्दलीय मैदान में उतरीं

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की बहू दीपा कोविंद कानपुर की झिंझक नगर पालिका परिषद चेयरपर्सन सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगी। दीपा कोविंद ने ने गुरुवार (नौ नवंबर) को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। दीपा रामनाथ कोविंद के भतीजे पंकज कोविंद की पत्नी हैं। पंकज कोविंद ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि उनकी पत्नी पिछले कुछ समय से नगर पालिका परिषद चुनाव लड़ने का प्रयास कर रही थीं। पंकज के अनुसार स्थानीय लोग और उनेक मित्र-रिश्तेदार चाहते थे कि दीपा चुनाव लड़ें। लेकिन दीपा को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से चुनाव का टिकट मिलना स्थानीय लोगों में चर्चा का विषय है। माना जा रहा है कि बीजेपी से टिकट न मिलने के बाद ही दीपा ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर पर्चा भरा। दीपा के कुछ समर्थकों का आरोप है कि बीजेपी ने सही उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया है।

उत्तर प्रदेश में तीन चरणों में 22 नवंबर, दूसरा 26 नवंबर और 29 नवंबर को निकाय चुनाव होगा। इस चुनाव में नगर निगम, नगर पालिका परिषद और नगर पंचायत के पदाधिकारी चुने जाएंगे। उत्तर प्रदेश में मार्च 2017 में योगी आदित्यनाथ सरकार बनने के बाद ये पहला चुनाव है। चुनाव में बीजेपी के शिव सेना और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी इत्यादि सहयोगी दल स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ रहे हैं।

Hide Related Posts