Anuppur : कांग्रेस पूर्व पार्षद ने कोयले टेण्डर दिलाने के नाम पर करोड़ो की ठगी

अनूपपुर। जिले में स्थापित विद्युत उत्पादन कम्पनी मोजर बेयर में ठेका दिलाने के नाम पर जैतहरी निवासी कांग्रेस के पूर्व पार्षद और उसके भाई ने मिलकर करोड़ो रूपये की ठगी करते हुए अपने खाते में पैसा जमा करा लिया। मामले की शिकायत उपरांत जब जॉच हुई तो सारी हकीकत खुलकर सामने आ गई और तथ्यों के आधार पर पुलिस ने पूर्व कांग्रेस पार्षद तथा उसके साथी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की तो वहीं पूर्व पार्षद का भाई मामले में फरार हो गया। जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। मामले का खुलासा जिले की पुलिस कप्तान किरणलता केरकेट्टा के द्वारा किया गया। कोयले का ट्रांसपोर्ट का काम दिलवाने और स्क्रैप बिकबाने दो मामलों में एक करोड़ के ऊपर जालसाजी करने मामले में 3 आरोपी गिरफ्तार किया। पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कांफ्रेंस कर 25 जुलाई प्रेस को जानकारी दी। मोजर बियर पावर प्लांट में कोयले के परिवहन का ठेका दिलवाने साथ ही स्क्रैप मटेरियल बेचने के नाम से एक दलाल ने 1 करोड के ऊपर की राशि 2 लोगों से हड़प कर ली, पीड़ित फरियादी कमलेश द्विवेदी के अनुसार आरोपी नारेन्द्र शर्मा एवं सिद्धार्थ सिंह उर्फ राजा व संतोष सिंह के विरूद्ध शिकायत की गई।
टेंडर के नाम पर की ठगी
आरोपीगणों ने बैंक एवं नगद के माध्यम से कपट एवं बेईमानी ढंग से फरियादियों से मोजर बियर के लिये कोयले की टेण्डर दिलाने एवं संबंधित कोयला डम्प कराने में परिवहन खर्च के नाम से 55 लाख 97 हजार 530 रूपये रुपये लिए खाता धारक रागिनी देवी के नाम के खाते के माध्यम से 37 लाख 97 हजार 530 रूपये एवं नगदी 20 लाख रूपये ले लिए है आरोपियों ने धोखाधड़ी कूटरचित तरीके से खाता धारक कु. रागिनी को मोजर बीआर मैं कोयला ठेकेदार जोगेन्द्रर सिंह की पत्नी बताया और उसके खाते पैसे डलवाये जबकि इस खाते का स्वयं उपयोग करते हुये आरोपियों ने फरियादियों की राशि का गबन कर लिया।
की गई शिकायत
स्क्रैप टेंडर दिलाने का काम दिलवाने के नाम पर फरियादी असरफीलाल साहू से आरोपी नारेन्द्र शर्मा द्वारा स्वयं को मोजर बेयर के कोयला ठेकेदार बताकर मोजर बेयर से स्क्रैप (लोहा कबाड़) का टेंडर दिलाने की लालच देकर एडवांस के रूप में 26 लाख रूपये की मांग किया जिसमें फरियादी ने आरोपी को कुल 21 लाख रूपये दिया और वादे के अनुसार टेंडर न दिलाने की स्थिति में फरियादी के दवाब पर आरोपी द्वारा ढाई लाख रुपए फरियादी के खाता में वापस कर दिया गया तथा शेष साढे अठारह लाख रूपये को कपट बेइमानी एवं ठगी कर लेने पर प्रकरण की कायमी की गई और 2 को गिरफ्तार कर लिया गया वही कांग्रेस नेता सिद्धार्थ सिंह का भाई संतोष सिंह फरार चल रहा है।
खाते में जमा कराया पैसा
इस बड़े फ्राड के मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ के नेता एवं जैतहरी नगर पंचायत कांग्रेस से पूर्व में पार्षद रहे सिद्धार्थ सिंह राजा भाई संतोष सिंह पर आरोपी नागेंद्र शर्मा से पैसा अपने खाते में डाल दलाली में सहयोग देने का आरोप लगा और पुलिस ने मामले की विवेचना की तो तथ्यों के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी की गई।