BJP ने मिजोरम में बनाया क्रिश्चियन मिशनरी सेल

आइजल। ईसाई बहुल मिजोरम में पार्टी की प्रभावी उपस्थिति दर्ज करवाने के मद्देजनर पार्टी ने पहली बार राज्य में क्रिश्चियन मिशनरी सेल की स्थापना की है। बुधवार से इस सेल की औपचारिक शुरुआत हो गई। राज्य की 40 सदस्यीय विधानसभा में पार्टी का सिर्फ एक विधायक है।

गौरतलब है 2011 की जनगणना के अनुसार मिजोरम की कुल जनसंख्या 1,091,014 है और कुल आबादी के 87 फीसद लोग ईसाई धर्म से ताल्लुक रखते हैं। भाजपा की मिजोरम इकाई के अध्यक्ष जेवी लूना ने कहा कि पांच सदस्यीय इस सेल का प्रमुख हरीथेरेंगा छांगटे को बनाया गया है जबकि जूली वनपारी को इसका सचिव बनाया गया है। छांगटे ने कहा कि सेल की स्थापना राजनीतिक दलों और चर्च के उस आरोप के खिलाफ की गई है, जिसमें वह भाजपा को ईसाई विरोधी बताते हैं।

खनन इंजीनियर से राजनेता बने 54 वर्षीय छांगटे ने कहा कि शुरू में हम मिजो लोगों के बीच सामाजिक गतिविधियों की शुरुआत करेंगे और धीरे-धीरे इसका विस्तार करेंगे। छांगटे ने कहा कि अक्सर देखा गया है कि अध्ययन, नौकरी और चिकित्सा उपचार के लिए जब मिजो लोग अन्य राज्यों में जाते हैं तो उनके साथ भेदभाव होता है। यह सेल इस तरह की शिकायतों को दूर करने में मदद करेगा। सेल की 24 घंटे की एक हेल्पलाइन भी होगी।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की नौकरी के दौरान मैंने गुजरात, ओडिशा, कर्नाटक, असम सहित देश के कई हिस्सों में काम किया है। कुल मिलाकर मेरा निष्कर्ष यह है कि भाजपा सबसे धर्मनिरपेक्ष पार्टी है। मिजोरम में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लोकसभा चुनाव लड़े छांगटे ने कहा कि यह झूठ कांग्रेस ने फैलाया है कि भाजपा ईसाई विरोधी है, क्योंकि वह नहीं चाहती है कि पार्टी सत्ता में आए। बता दें कि सत्तारूढ़ मिजो नेशनल फ्रंट भाजपा नीत नार्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक एलायंस का एक घटक है, लेकिन दोनों पार्टियों ने विधानसभा और लोकसभा के चुनाव अलग-अलग लड़े थे।