MLA की बेटी साक्षी-अजितेश को राहत: Allahabad HC ने शादी को बताया वैध, कोर्ट रूम के बाहर अजितेश से मारपीट

Advertisements

प्रयागराज। बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की पुत्री साक्षी और उनके पति अजितेश कुमार की सुरक्षा को लेकर मांग पर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई कर ली है। इसके कोर्ट ने इनके मामले में सख्त रुख अपनाया और सरकार को इनको सुरक्षा देने का निर्देश दिया। कोर्ट से बाहर आते समय अजितेश कुमार को वहां पर मौजूद कुछ वकीलों ने दो-तीन थप्पड़ भी मारा।

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने साक्षी मिश्रा व अजितेश कुमार को बड़ी राहत दी है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इनकी शादी को वैध माना है। इसके साथ ही सरकार को इनको सुरक्षा देने का निर्देश दिया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बरेली के विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी और अजितेश को राहत देते हुए उनकी शादी को वैध करार दिया है। इसके साथ ही उस जोड़े को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए पुलिस को आदेश दिया है। सुनवाई के दौरान साक्षी के परिजन कोर्ट में मौजूद नही थे। कोर्ट ने प्रयागराज के एसपी सिटी को भी आदेश दिया कि लड़की लड़का जहां जाना चाहें, उनको वहां सुरक्षित पहुचाया जाए।

इसे भी पढ़ें-  आर्यन को फंसाया गया, वानखेड़े की जाएगी नौकरी; नवाब मलिक बोले- अगर मैं गलत तो दे दूंगा इस्तीफा

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने साक्षी मिश्रा व अजितेश कुमार को सुरक्षा देने के मामले की सुनवाई खत्म की। इस मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सख्त रुख अपनाया। कोर्ट ने सरकार से कहा कि इनको पुलिस की सुरक्षा दें। साक्षी व अजितेश ने शादी के अभिलेख को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने पेश सभी अभिलेखों को सही माना है। उनकी शादी के फर्जी प्रमाणपत्र होने से कोर्ट ने इनकार किया। कोर्ट ने इससे पहले साक्षी और अजितेश के शैक्षिक प्रमाणपत्र की जांच की। जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की पीठ ने उनकी शादी को वैध करार देते हुए उन्हें पति-पत्नी के तौर पर रहने की इजाजत दे दी।

साक्षी ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर अपने और अपने पति की सुरक्षा की गुहार लगाई थी। बीते गुरुवार को साक्षी के कोर्ट में पेश न हो पाने वजह से सुनवाई 15 जुलाई तक के लिए टाल दी गई थी। जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की पीठ इस मामले की सुनवाई करेगी। याचिका में साक्षी ने राज्य सरकार, एसएसपी (बरेली), एसओ कैंट (बरेली) और पिता विधायक राजेश मिश्रा को पक्षकार बनाया। याचिका में साक्षी मिश्रा ने पिता, भाई और परिवार के अन्य सदस्यों से जान का खतरा बताया। इसके साथ ही सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की। साक्षी के विधायक पिता राजेश मिश्रा ने कहा था कि उन्हें साक्षी और अजितेश की शादी से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन साक्षी को अपने पिता की बात पर भरोसा नहीं हो रहा है।

हाई कोर्ट में वकीलों ने अजितेश को पीटा

इसे भी पढ़ें-  Firing in Mosque: नाइजीरिया में मस्जिद के भीतर भीषण गोलीबारी, नमाज पढ़ने आए 18 लोगों की मौत, हमलावर फरार

साक्षी मिश्रा तथा अजितेश कुमार को कोर्ट से बाहर निकलने पर वकीलों के कोप को भी झेलना पड़ा। इस युगल के कोर्ट से बाहर निकलने के दौरान कुछ वकीलों ने अजितेश कुमार से कोर्ट के कॉरिडोर में मारपीट की। बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी और उनके पति अजितेश कुमार सुरक्षा की मांग को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट पहुंच गए, जहां कुछ लोगों ने अजितेश से मारपीट की। अजितेश के वकील के अनुसार, हाई कोर्ट परिसर में कुछ लोगों ने अजितेश के साथ मारपीट की जिसकी पुष्टि भी हो चुकी है। अजितेश के वकील ने बताया कि सिर्फ अजितेश की पिटाई हुई थी। यह पता नहीं चला है कि पिटाई करने वाले लोग कौन हैं, लेकिन यह सिद्ध करता है कि दोनों की जान को खतरा है और इसलिए वह सुरक्षा मांग रहे हैं। अजितेश की पिटाई के मामले में पुलिस अधिकारियों को कोर्ट ने तलब किया और सुरक्षा देने को कहा। इसके साथ ही अजितेश को कोर्ट नंबर 2 में बैठाया गया। अजितेश की पिटाई वकील के वेश में बड़ी संख्या में हाई कोर्ट में मौजूद लोगों ने की। यहां कुछ लोगों ने अजितेश के पिता को भी पीटा है।

इसे भी पढ़ें-  नौसेना के 2 रिटायर्ड और एक सेवारत अफसर सहित 5 गिरफ्तार, पनडुब्बी कार्यक्रम की सूचनाएं लीक करने का आरोप, जांच कर रही CBI

कल मिली थी पुलिस सुरक्षा

बरेली पुलिस कल सुबह से नोएडा में साक्षी मिश्रा व इनके पति को सुरक्षा देने के लिए खोज रही थी। शाम को साक्षी मिश्रा और उसके पति अजितेश को आखिरकार पुलिस सुरक्षा मिल गई। उत्तर प्रदेश पुलिस की बरेली टीम ने दिल्ली के गीता कॉलोनी से साक्षी, अजितेश, अजितेश के मामा, भाई और पिता से मुलाकात की थी।

Advertisements