Live updates : इंदौर विधायक आकाश विजयवर्गीय गिरफ्तार, जमानत निरस्‍त

Advertisements
Advertisements

इंदौर। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय की जमानत निरस्‍त कर दी गई है। आकाश को नगर निगम अधिकारी की पिटाई के बाद गिरफ्तार किया गया था।

आकाश ने नगर निगम अधिकारी को क्रिकेट बैट से पीटा। विधायक आकाश के खिलाफ एमजी रोड थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। उनके खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा, मारपीट और बलवा की धारा 353 , 294 , 506, 147, 148 में केस दर्ज किया गया है। इसके बाद आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया। आकाश को जिला कोर्ट के 40 नंबर कक्ष में पेश किया गया था। मजिस्‍ट्रेट गौरव गर्ग के काेर्ट में उन्‍हें पेश किया गया था।तमाम दलीलों को सुनने के बाद जमानत निरस्‍त कर दी गई है।

गिरफ्तारी के दौरान एमजी रोड थाने के बाद बड़ी संख्‍या में आकाश के समर्थक जमा हो गए थे। भवन निरीक्षण धीरेंद्र बायस का कहना है कि खाली मकान जो जर्जर था उसे तोड़ने गए थे, विधायक आकाश और उनके 8 साथियों ने की मारपीट की।

जानकारी के मुताबिक गंजी कंपाउंड क्षेत्र में एक जर्जर मकान को तोड़ने के लिए निगम की टीम पहुंची थी। इस दौरान तीन नंबर क्षेत्र से विधायक आकाश विजयवर्गीय भी वहां पहुंच गए। उन्होंने निगम अधिकारियों को धमकी देते हुए कहा कि आप 5 मिनट में यहां से नहीं गए तो आगे जो होगा इसकी जिम्मेदारी आपकी होगी, उनके साथ मौजूद लोगों ने पोकलेन की चाबी भी निकाल ली। इसके बाद निगम के अधिकारियों और विधायक के बीच जमकर विवाद हो गया और मारपीट होने लगी। इस दौरान विधायक समर्थकों ने वहां खड़ी पोकलेन मशीन और नगर निगम की गाड़ी पर पथराव कर उन्हें फोड़ दिया।

विवाद के बाद एमजी रोड थाने का घेराव

विधायक आकाश विजयवर्गीय और उनके समर्थकों द्वारा नगर निगम अधिकारियों के साथ मारपीट के बाद जमकर हंगामा खड़ा हो गया। विधायक और भाजपा कार्यकर्ता वहां से एमजी रोड थाने पर पहुंच गए। इसके बाद भाजपा विधायक रमेश मेंदोला भी थाने पहुंच गए और निगम अधिकारियों द्वारा के खिलाफ जांच करने की बात कही। घटना की सूचना जैसे ही नगर निगम दफ्तर में लगी, सभी कर्मचारियों ने काम बंद कर दिया। नगर निगम कर्मचारियों ने आज मनीष सिंह को याद किया। कहा चाटा कांड के बाद हुई कार्रवाई से कर्मचारियों का मनोबल बढ़ा था। विधायक आकाश विजयवर्गीय ने जेडओ बायस के साथ पुलिस की मौजूदगी में मारपीट की। निगमायुक्त आशीषसिंह की समझाइश के बाद कर्मियों ने हड़ताल की स्थगित। आयुक्त बोले जिम्मेदारों पर होगी कार्रवाई।

Advertisements
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: