Katni : बड़ी खबर-संभाग के सबसे बड़े जुआफड़ में पुलिस की रेड

Advertisements

कटनी। स्लीमनाबाद थाना अंतर्गत तेवरी के समीप ग्राम सलैया प्यासी स्थित एक वारदाना सिलाई केन्द्र में चल रहे लंबे जुआफड़ पर दबिश देकर लगभग एक सैकड़ा जुआरियों को गिरफ्तार किया है। जुआफड़ से लगभग दो लाख रूपए की जप्ती बनाने के साथ ही पुलिस ने तास के पत्ते व आधा दर्जन दरी भी बरामद की है। क्षेत्र में जुआफड़ का संचालन जबलपुर निवासी राजा सोनकर कटनी निवासी अन्नू माली सहित अन्य युवकों के सहयोग से कर रहा था। स्लीमनाबाद थाने में पदस्थ व क्षेत्र के बीट प्रभारी सहित एक प्रधान आरक्षक की मिलीभगत से बिछ रही इस बिसात के संबंध में जुआरियों को यह मैसेज दिया जा रहा था कि उनकी पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एसडीओपी स्लीमनाबाद व स्लीमनाबाद थाना प्रभारी से सेटिंग हो गई है।

इसलिए जुआफड़ में पुलिस की रेड नहीं होगी। जुआफड़ बैठाने वाले युवकों की इसी दलील के भरोसे यहां जबलपुर व कटनी सहित आसपास के जिलों से जुआरी यहां मोटी रकम के साथ भाग्य आजमाने पहुंच रहे थे। लगभग एक सप्ताह तक स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र में अलग-अलग जगह जुआफड़ संचालित करने के बाद कलरात जुआफड़ के मास्टर माइंड राजा सोनकर व अन्नू माली ने तेवरी के समीप प्यासी सलैया गांव स्थित अविनाश मिश्रा के वारदाना सिलाई केन्द्र में जुआफड़ बैठाया। उधर थाने के निचले स्टाफ की मदद से स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र में आबाद जबलपुर संभाग के सबसे लंबा जुआफड़ संचालित होने की जानकारी स्लीमनाबाद एसडीओपी प्रमोद कुमार सारस्वत को लग गई। जिसके बाद एसडीओपी श्री सारस्वत ने पुलिस अधीक्षक हिमानी खन्ना व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदीप मिश्रा से जुआफड़ में रेड डालने से संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश लेकर स्लीमनाबाद थाने के विश्वासपात्र स्टाफ को साथ लेकर देररात जुआफड़ पर छापा मारा। पुलिस की छापे मार कार्रवाई में लगभग आधा सैकड़ा जुआरी पकड़े गए। इसके अलावा पुलिस ने जुआफड़ से 2 लाख 5 हजार रूपए की जप्ती बनाई है। जुआफड़ से आधा दर्जन बैठकर जुआ खेलने वाली दरी व कई जोड़े तास के पत्ते भी बरामद किए गए हैं। जुआरियों के विरूद्ध 13 जुआएक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

जुआफड़ से जप्ती पर उठे सवाल
वहीं स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र में जुआफड़ पर पुलिस के द्धारा की गई कार्रवाई के बाद जुआफड़ से जप्ती रकम को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं। स्थानीय मीडियाकर्मियों का कहना है कि जुआफड़ 35 से 40 लाख रूपए का था लेकिन पुलिस ने जुआफड़ से केवल 2 लाख 5 हजार रूपए की जप्ती दर्शाई है। उधर इन आरोपों को लेकर स्लीमनाबाद एसडीओपी प्रमोद कुमार सारस्वत का कहना है कि जुआ और सट्टे के विरूद्ध कार्रवाई करने पर पुलिस को हमेशा ऐसे आरोपों का सामना करना पड़ता है। श्री सारस्वत का कहना है कि पूरी कार्रवाई सही है तथा जुआफड़ से 2 लाख 5 हजार रूपए ही बरामद किए गए हैं। वहीं सूत्रों का भी यही कहना है कि पुलिस की कार्रवाई एक दम सही है कल रविवार होने के कारण आसपास के जिलों से मोटी रकम लेकर पहुंचने वाले जुआरी नहीं आए। जिसके कारण जुआफड़ से रकम कम मिली।

मास्टर माइंड थाने की छत कूदकर भागा
स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र में पुलिस अधिकारियों से सेटिंग की झूठी खबर फैलाकर जबलपुर संभाग का सबसे लंबा जुआफड़ संचालित करने वाले अन्नू माली सहित लगभग 41 जुआरियों को पुलिस पकड़कर देररात थाने पहुंची। इतनी संख्या में जुआरियों के थाने पहुंचने पर पूरा थाना भर गया। इस दौरान जुआफड़ का मास्टर माइंड अन्नू माली पुलिस को चकमा देकर पहले स्लीमनाबाद थाने की छत पर पहुंचा और फिर छत से छलांग लगाकर फरार हो गया। छत से कूदने के कारण अन्नू माली के पैर में फैक्चर की भी खबर है। जिसके बाद उसके द्धारा माधवनगर थाना अंतर्गत किसी निजी अस्पताल में उपचार कराए जाने की भी खबर है। वहीं जुआफड़ के दूसरे मास्टर माइंड जबलपुर निवासी राजा सोनकर के पकड़े जाने की पुष्टि पुलिस अधिकारियों ने नहीं की है।बीट प्रभारी व प्रधान आरक्षक की भूमिका संदिग्ध
स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र में जुआफड़ बैठाए जाने के इस मामले में बीट प्रभारी सहित एक प्रधान आरक्षक की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है। बताया जाता है कि दोनों की सह पर बिसात बिछाई जा रही थी। इसलिए पुलिस अधिकारियों को चाहिए की वो इस मामले की जांच करते हुए जड़ तक जाएं और जो भी दोषी पुलिसकर्मी हैं। उनके विरूद्ध भी कार्रवाई करें।

इनकी हुई गिरफ्तारी
पुलिस ने जुआफड़ में दांव आजमाते रवि कुमार, मो. अनवर, रामगरीब कुशवाहा, सलीम, अत्त दाहिया, अवनीश, भागचंद, संदीप, रामभजन, रिन्कू, अनिल, ब्रजेश, सलीम खान, कमलेश गुप्ता, सतीश गुप्ता, इकबाल खान, जितेन्द्र मिश्रा, राहुल सोधिया, राममिलन पटैल, अजय प्यासी, रवि रजक, महेन्द्र कुशवाहा, अमनदीप राठौर, गुड्डू दुबे, कजबान रशीद, भगवान चौरसिया, मंगल ठाकुर, विष्णु तिवारी, विकास चौरसिया, कल्लू सोनी, शरीफ खान, गुलाम हुसैन, लकी असाटी, बबलू गुप्ता, महेश, श्रीराम पटैल, अरविंद पाण्डेय, अंकित अवस्थी, सतीश मिश्रा व अन्नू माली को पकड़ा है। जिसमें से अन्नू माली पुलिस को चकमा देकर अभिरक्षा से फरार होने में कामयाब रहा।

Advertisements