गजब- बैंड, बाजा और बरात : पन्ना प्रमुख बनेंगे दूल्हा, वोटर होंगे बराती

पानीपत। बैंड, बाजा और बरात। इस बार आप बराती बनकर वोट डालने जाएंगे। दूल्हा होगा आपका पन्ना प्रमुख। बूथ का माहौल देशभक्ति से सराबोर होगा। सम्मेलन में पन्ना प्रमुख गले में कार्ड डाल कर आएंगे। माथे पर भगवा रंग की टोपी होगी। यह निर्णय पानीपत में हुई मीटिंग में लिया गया। मंच से नेताजी हौंसला बढ़ाने में जुटे रहे। एक नेताजी ने पार्टी का मेरुदंड बताया। दूसरे ने कहा कि हम आज सरकार में शामिल हैं वो आपके कारण ही है। तीसरे ने कहा कि पन्ना प्रमुखों के परिश्रम से ही कल मंच पर बैठने का अवसर मिलेगा।

मतलब…ये मानो कि 12 मई को होने वाले चुनाव में पन्ना प्रमुख दूल्हा बनेगा। 60 घरों में जाकर बराती बनने का न्योता देगा। बरातियों को घर से लेकर बूथ तक जाने और वापस घर छोडऩे की जिम्मेवारी उस दूल्हे की होगी। रास्ते में कोई बराती रूठेगा तो उसे शीतल पेय पिला मनाएंगे। वोट देने के लिए हाथ भी जोड़ेंगे।

अंसल में एक होटल में आए पन्ना प्रमुखों की हौसला अफ्जाई करने में नेताजी ने भी छक्का मारा। उस कार्ड की बात करने लगे जो पन्ना प्रमुखों के गले में लटक रहा था। कार्ड की तरफ इशारे कर नेताजी बोले ये हर उस ताले की चाबी है। इसे आप संभालकर रखना। चुनाव जीत कर जब मैं दिल्ली जाऊंगा तो आप चाहे 12 बजे रात में आना..कमरे का दरवाजा खुला मिलेगा। बंद रहा तो ठोकर मार खोल लेना। कार्ड उसी का मान्य होगा जो अपने मंडलाध्यक्ष से हस्ताक्षर करा लेगा।

नेताजी की बात पर कुछ पन्ना प्रमुख मुस्कुराने लगे। कानाफूसी होने लगी कि अब तो बल्ले-बल्ले है। बीच में एक ने टोक दिया। भाई सुन, पहले बरात की तैयारी कर ले। एक पन्ने में 60 वोट सुबह 10 बजे तक डल जाना चाहिए। वो भी मोदी के पक्ष में। कोई बात न मानें तो हाथ जोडऩे से भी परहेज न करें। आप हो तो हम हैं।