Advertisements

मध्यप्रदेश में पेंशनर्स को मिलेगा एरियर, बैंक गणना करके बनाएंगे क्लेम

भोपाल। पेंशनर्स को जनवरी 2018 से मार्च 2019 तक बढ़ी हुई महंगाई राहत (डीआर) का एरियर भी मिलेगा। इसके लिए वित्त विभाग को अलग से किसी प्रकार की अनुमति लेने की जरूरत नहीं है। एरियर की गणना स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का गोविंदपुरा ऑफिस करके भुगतान के लिए मुंबई स्थिति बैंक मुख्यालय भेजेगा। यहां से पेंशनर्स के खातों में एरियर और बढ़ी हुई पेंशन के हिसाब से भुगतान होगा। जनवरी से मार्च 2018 तक छठवें वेतनमान के हिसाब से तीन फीसदी महंगाई राहत बढ़कर मिलेगी।

वित्त विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पेंशनर्स के एरियर को लेकर भ्रम की स्थिति नहीं है। जनवरी 2018 से मार्च 2019 तक सातवें वेतनमान में चार और छठवें वेतनमान में छह प्रतिशत के हिसाब से महंगाई राहत बढ़ाई गई है। मई की पेंशन में डीआर बढ़कर मिलेगा। न्यूनतम तीन सौ रुपए प्रतिमाह का फायदा पेंशनर्स को होगा। इसकी गणना कर बैंक मुंबई स्थिति मुख्यालय को दावा बताएगा।

इसके हिसाब से एरियर पेंशनर्स के खातों में आएगा। पेंशनर्स एसोसिएशन के प्रांतीय उपाध्यक्ष गणेशदत्त जोशी ने बताया कि वित्त विभाग के आदेश में स्थिति साफ है। आदेश में सिर्फ एक संशोधन होना है जो जुलाई 2018 से छठवें वेतनमान में बढ़ाए गए डीआर को लेकर है।

इसमें छह प्रतिशत डीआर बढ़ाए जाने की बात है, जबकि यह तीन प्रतिशत बढ़ेगा। इस प्रकार छठवें वेतनमान वाले पेंशनर्स को 145 प्रतिशत डीआर मिलेगा और सातवें वेतनमान में यह नौ प्रतिशत रहेगा। वित्त विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पेंशनर्स का एरियर 250 करोड़ रुपए के आसपास होगा।

Loading...