मां राबड़ी को किसा इग्‍नोर: नहीं माने तेजप्रताप, ससुर के खिलाफ ठोकेंगे ताल!

प्रयागराज डेस्‍क। नाराज तेजप्रताप यादव का मानना है कि सारण लालू परिवार की है पारंपरिक सीट रही है इसलिए इसी परिवार का ही कोई उम्मीदवार यहां से चुनाव लड़ना चाहिए.

राबड़ी देवी के मनाने पर भी नहीं माने तेजप्रताप, सारण से ससुर के खिलाफ ठोकेंगे ताल! मां राबड़ी देवी के साथ तेजप्रताप यादव

लालू परिवार में लोकसभा चुनाव के दौरान टिकट बंटवारे को लेकर रूठने-मनाने का सिलसिला लगातार जारी है. पार्टी आरजेडी समेत लालू परिवार अपने बेटे के फैसले से हैरान और परेशान हैं, वहीं उनको मनाने की कोशिशें भी नाकाफी साबित हो रही हैं.

तेजप्रताप ने हाल ही में लालू-राबड़ी मोर्चा बनाकर पांच सीटों से चुनाव लड़ने का ऐलान किया था. तेजप्रताप अपनी मां राबड़ी देवी को सारण से चुनाव लड़ाना चाहते हैं, जिसे लेकर वो जिद पर अड़े हुए हैं. तेजप्रताप का परिवार उनको मनाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन उनके मान-मनौव्वल के बाद भी वो अपने फैसले पर अडिग हैं.

आरजेडी ने सारण से तेजप्रताप के ससुर चंद्रिका राय को अपना उम्मीदवार बनाया है, लेकिन उनके ही दामाद यानी तेजप्रताप पार्टी के इस फैसले से नाराज हैं. तेजप्रताप का मानना है कि सारण लालू परिवार की पारंपरिक सीट रही है इसलिए इसी परिवार का ही कोई उम्मीदवार वहां से चुनाव लड़ना चाहिए.

तेजप्रताप ने ऐलान कर दिया है कि अगर राबड़ी देवी को सारण से प्रत्याशी नहीं बनाया गया तो वो खुद सारण से चुनाव लड़ेंगे. कुल मिलाकर लालू परिवार में टिकट के बंटवारे को लेकर शुरू हुआ अंदरूनी विवाद अब चरम पर पहुंच चुका है.