Congress Manifesto में AFSPA का जिक्र, रक्षामंत्री ने कहा- सशस्त्र बलों को कमजोर करने का प्रयास

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए (Lok Sabha Elections 2019) कांग्रेस की ओर से जारी घोषणापत्र को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेता लगातार हमलावर हैं। बुधवार को पहले असम में पीएम मोदी, फिर उत्तरकाशी में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस के घोषणापत्र को लेकर हमला बोला। वहीं, दिल्ली में रक्षा मंत्री और भाजपा नेता निर्मला सीतारमण ने निशाना साधा।

सीतारमण ने AFSPA को लेकर की गई घोषणा पर पूछा कि क्या कांग्रेस का AFSPA अधिनियम 1958 में संशोधन का वादा करना सही है? उन्होंने आरोप लगाया कि यह सशस्त्र बलों को कमजोर करने का एक प्रयास है। ऐसा करने से सशस्त्र बलों का मनोबल कम होगा। वे हमारे सुरक्षा बलों की प्रतिरोधक क्षमता को कम करने की कोशिश कर रहे हैं।


गौरतलब है कि कल कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी करते हुए AFSPA Act 1958 की समीक्षा कर संशोधन करने का वादा किया। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने तमिलनाडु में एक रैली को संबोधित करते कहा था कि मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं, क्या वो सशस्त्र बलों को मजबूत करना चाहते है या फिर उनका मनोबल कम करने की कोशिश कर रहे हैं? AFSPA पर वो क्या संदेश देना चाहते हैं?

वहीं कांग्रेस के इस वादे का उमर अब्दुल्ला ने स्वागत किया और कहा कि काश उन्होंने यह मुद्दा तब उठाया होता, जब मैं मुख्यमंत्री था। उस वक्त जब मैंने मांग की थी कि अफस्पा हटाया जाए तो कुछ कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने इसके खिलाफ साजिश रची थी।