Advertisements

Budget 2019: सरकार ने दी बडी राहत, 5 लाख तक कोई Income Tax नहीं

नई दिल्ली। बजट 2019 में आम आदमी के लिए सबसे बड़ा ऐलान यह रहा कि 5 लाख रुपए तक की आय तक अब कोई टैक्स नहीं लगेगा। पहले यह सीमा 2.50 लाख रुपए सालाना थी। अगर इसमें आयकर की धारा 80सी के तहत मिलने वाली छूट को जोड़ दिया जाए, तो यह दायरा बढ़कर 6.5 लाख रुपए से अधिक हो जाएगा। इससे तीन करोड़ मध्यमवर्गीय परिवारों को फायदा होगा। साथ ही एफडी के 40 हजार रुपए तक के ब्याज पर भी कोई टैक्स नहीं लगेगा। एक और बड़ा ऐलान यह भी रहा कि स्टैंडर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया।

लोकसभा चुनाव के पहले सरकार द्वारा पेश किए गए अंतरिम बजट से टैक्स पेयर्स को काफी उम्मीद थी, कार्यवाहक वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने टैक्स पेयर्स को बड़ी राहत देते हुए 5 लाख तक आय पर कोई टैक्स नहीं लगने की घोषणा कर दी है। इस घोषणा के बाद ही सदन में मोदी के समर्थन में नारे भी लगे। सरकार की इस घोषणा का लाभ साढे तीन करोड़ टैक्स पेयर्स को मिलेगा।
घर खरीदने पर जीएसटी घटाने पर फैसला विचाराधीन। इसके लिए काउंसिल फैसला करेगी।

पीयूष गोयल ने ये कहा।
– कर अदायगी को आसान बनाने के लिए कदम उठाए गए हैं
– टैक्स कलेक्शन का आंकड़ा 12 लाख करोड़ पहुंचा
टैक्स रिटर्न भरने वाले बढ़कर 6.85 करोड़ हुए
– टैक्स कलेक्शन का पैसा गरीबों के विकास में खर्च हुआ
टैक्स कलेक्शन का पैसा गरीबों के विकास में खर्च हुआ
– 99.94 फीसद रिटर्न बिना स्क्रूटनी के पास हुए
GST को लेकर पीयूष गोयल ने ये कहा
– काले धन को खत्म करेगी सरकार
– काले धन के लिए सरकार कड़े कानून लाई
– सोर्स ऑफ इनकम घोषित करने का दबाव बनाया
– नोटबंदी के बाद पहली बार एक करोड़ से ज्यादा टैक्स पेयर बढ़े
– 3 लाख 38 हजार शेल कंपनियां बंद की।
-पहली बार बजट में सरकार ने अगले दस साल का विजन पेश किया
– अगले पांच साल में हम पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएंगे।
– हमारी कोशिश है कि अगले 8 सालों में हम 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनें।
– 40 लाख टर्नओवर तक जीएसटी नहीं
– स्डेंडर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया गया
– बचत करने पर 6.5 लाख तक टैक्स नहीं

पीयूष गोयल ने टैक्स पेयर्स के योगदान पर उन्हें धन्यवाद दिया।उन्होंने कहा कि टैक्स पेयर्स के पैसे से देश के 50 करोड़ लोगों का भला हुआ है। साथ ही जोड़ा कि टैक्स

Loading...