Budget 2019 Live किसानों, मजदूरों और कामगारों के लिए खोला पिटारा

Advertisements

Interim Budget 2019 Live Updates in Hindi: कार्यवाहक वित्त मंत्री पीयूष गोयल शुक्रवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पेश करेंगे। मोदी सरकार का यह अंतिम बजट है। इसलिए गोयल इस मौके का इस्तेमाल लोकसभा चुनाव से पहले मध्यम वर्ग, किसान और नौजवानों को रिझाने और सरकार की उपलब्धियों का बखान करने के लिए कर सकते हैं। व्यक्तिगत करदाताओं को टैक्स राहत और किसानों और गरीबों को न्यूनतम आय (यूनिवर्सल बेसिक इनकम) के विकल्प सरकार की मेज पर हैं। अंतरिम बजट में इस आशय की घोषणा के आसार हैं। हालांकि, इन लोकलुभावन घोषणाओं का स्वरूप खजाने की स्थिति से तय होगा। यह पहला मौका होगा जब गोयल बजट पेश करेंगे।
बजट की बड़ी बातें

  • गाय के लिए 750 करोड़ का बजट। हरियाणा में देश का 22वां AIIMS खुलेगा। सबसे तेज हाईवे बनाने वाला देश बना भारत।
  • 5 साल में विमान यात्रियों की संख्या दोगुनी हुई। बीत पांच साल में हवाई यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। उड़ान योजना से आम लोग भी अब हवाई सफर कर पा रहे हैं।
  • अब मानव रहित क्रासिंग नहीं बची हैं। वंदे भारत पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन पहली बार भारत में शुरु होने वाली है।
    हाई रिस्क वाले सैनिकों के वेतन भत्ते बढ़ेंगे

ओआरओपी की घोषणा हमने की थी। पिछली सरकारों ने तीन बजट में इसकी बात कही थी। लेकिन 500 करोड़ का प्रावधान अंतिरम बजट में किया था। हमने इसके लिए 35 हजार करोड़ रुपए दिए हैं। पहली बार हमारा रक्षा बजट तीन लाख करोड़ से ज्यादा का हुआ है। 40 साल से अटकी वन रैंक, वन पेंशन योजना हमने लागू की। हाई रिस्क वाले सैनिकों के वेतन भत्ते में बढ़ोतरी की। रक्षा बजट तीन लाख करोड़ रुपए के पार चला गया है। जरूरत पड़ने पर रक्षा बजट में और अधिक बढ़ोतरी की जाएगी।
मुद्रा योजना से महिलाएं हुई लाभांवित

इसे भी पढ़ें-  Tokyo Olympics 2020 Day-7 LIVE: भारतीय मेंस हॉकी टीम और पीवी सिंधु की शानदार जीत, बॉक्सर सतीश मेडल से एक पंच दूर

वित्त मंत्री ने कहा, देश में उज्ज्वला योजना के तहत छह करोड़ मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए। मुद्रा योजना में 15 लाख करोड़ रुपए का कर्ज दिया गया है। इसमें 70 फीसद महिलाएं लाभांवित हुई है। सिर्फ सरकारी नौकरी में ही रोजगार नहीं है। 26 हफ्तों की मैटरनिटी लीव और प्रधानमंत्री मातृत्व योजना से देश की महिलाएं सशक्त हो रही हैं। पियूष गोयल ने कहा कि रोजगार खोजने वाला ही, अब रोजगार देने वाला बन गया है।
पीएफ कटता है, तो 6 लाख का बीमा

15 हजार से कम वेतन पर पेंशन योजना शुरू की गई है। जिनका पीएफ कटता है, उनका 6 लाख का इंश्योरेंस होगा। श्रमिक की मौत पर अब छह लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। 10 करोड़ मजदूरों के लिए पेंशन योजना शुरू होगी।
मजदूरों को 3000 रुपए पेंशन मिलेगी

बजट भाषण में पीयूष गोयल ने श्रमिकों के लिए बड़ा ऐलान किया है। मजदूरों के लिए एक पेंशन स्कीम लाई जाएगी, जिसे प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना नाम दिया गया है। इस योजना के तहत सरकार असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को हर महीने तीन हजार रुपए की पेंशन देगी। इसके लिए हर महीने 100 रुपए का अंशदान देना होगा। देश में रोजगार के मौके बढ़े हैं। दो करोड़ से ज्यादा EPFO अकाउंट खुले हैं। 10 करोड़ मजदूरों के लिए पेंशन योजना।
प्राकृतिक आपदा में ब्याज में दो फीसद छूट

इसे भी पढ़ें-  New Labour Code: PF- सप्ताह में चार दिन काम तीन दिन छुट्टी? मोदी सरकार एक अक्टूबर से नियम बदलने की तैयारी में, सैलरी और पीएफ पर भी पड़ेगा असर

प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसानों को ब्याज में दो फीसद छूट दी जाएगी। वहीं अगर किसान वक्त पर ऋण की किस्त भरते हैं तो उन्हें ब्याज में तीन फीसद की छूट मिलेगी। ग्रैच्युटी भुगतान सीमा अब 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 20 लाख रुपए हो गई है। 21 हजार वेतन वाले मजदूरों को सात हजार रुपए का बोनस मिलेगा।
पशुपालन के लिए किसान क्रेडिट कार्ड

राष्ट्रीय कामधेनू आयोग का भी गठन किय जाएगा। गाय की नस्ल के सुधार के लिए इस योजना का पैसा खर्ज किया जाएगा। गौ माता के लिए हमारी सरकार कभी भी पीछे नहीं हटेगी। इसके लिए 750 करोड़ रुपए का बजट होगा। मछली पालन के लिए आयोग बनेगा। पशुपालन के लिए सरकार किसान क्रेडिट कार्ड लाएगी – वित्त मंत्री
किसानों को मिलेंगे 6 हजार रुपए

2 हेक्टेयर तक की जमीन वाले किसानों के खाते में सीधे 6 हजार रुपए देंगे। छोटे और सीमांत किसानों को निश्चित आय मिले। इसके लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को मंजूरी मिली है। किसानों के खाते में हर महीने पांच सौ रुपए मिलेंगे। 12 करोड़ किसान परिवारों को इससे फायदा मिलेगा। इस योजना पर सालाना 75 हजार करोड़ खर्च होंगे। मनरेगा को लिए 60 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए। गांवों में शहरों जैसी व्यवस्था पर जोर दिया जा रहा है। फसलों का एमएसपी लागत से डेढ़ गुना किया है। एक दिसंबर 2018 से किसानों के खाते में जाएंगे पैसे।
बड़े डिफॉल्टर्स पर सख्ती

पीयूष गोयल ने बजट भाषण में कहा कि लगभग तीन लाख करोड़ रुपए बैंकों और ऋण देने वाली संस्थाओं के पास वापस आए। बड़े डिफॉल्टर्स से सरकार सख्ती से निपट रही है। हमारी सरकार ने 22 फसलों का एमएसपी बढ़ाया। लागत से डेढ़ गुना कीमत देने का फैसला किया।
आयुष्मान योजना से लाखों लोगों को फायदा

इसे भी पढ़ें-  टूटा दिल: सुपरमॉम मैरीकॉम टोक्यो ओलंपिक से बाहर, कड़े मुकाबले में कोलंबियाई मुक्केबाज ने हराया

ग्राम सड़क योजना पर पिछली बार 15 हजार करोड़ का प्रावधान था। प्रधानमंत्री सड़क योजना पर 90000 करोड़ रुपए खर्च किए। 142 करोड़ एलईडी बल्ब उपलब्ध कराए गए। हम न्यू इंडिया की ओर बढ़ रहे हैं। आयुष्मान भारत योजना में अब तक 10 लाख लोगों का इलाज हो चुका है। उन्होंने कहा कि हम 50 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना लेकर आए हैं। पांच साल मे हमने 1.53 करोड़ घर गरीबों के लिए बनाए हैं।
स्वच्छ भारत अभियान राष्ट्रीय आंदोलन बना

किसानों की आमदनी 2022 तक दोगुनी हो जाएगी, हम न्यू इंडिया की तरफ बढ़ रहे हैं। स्वच्छ भारत अभियान राष्ट्रीय आंदोलन बना। देश इस साल गांधीजी की 150वीं जयंती मना रहा है। ये उन्हें सबसे बड़ी श्रद्धांजलि होगी। गांवों को खुले में शौच से मुक्ति मिली है। देश के 98 फीसद गांवों में शौचालय बनाए गए। 5.45 लाख गांव पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त हो गए। गरीब सर्वणों के लिए हमारी सरकार आरक्षण लेकर आई। कॉलेजों में दो लाख सीटें बढ़ाई जाएंगी। हमने मौजूदा आरक्षण व्यवस्था में कोई छेड़छाड़ नहीं की। मनरेगा के लिए और धनराशि बढ़ाई। गांवों के लोगों को शहरों जैसी सुविधा देने पर जोर है। ग्राम संपर्क योजना पर 19 हजार करोड़ का प्रावधान किया।

Advertisements