आनन फानन में हटाया गया बाथरूम के उपर लगा कैमरा

मामला रेलवे अस्पताल के महिला वार्ड का
यश भारत की खबर का असर
जबलपुर नगर संवाददाता। रेलवे अस्पताल में महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगे सीसीटीवी कैमरे की खबर को गत दिवस यश भारत ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसमें वार्ड में भर्ती महिलाओं को हो रही परेशानियों को जबावदेह अधिकारियों के सामने लाया गया था कि आखिर महिला वार्ड में सीसीटीवी कैमरे क्या औचित्य है इस वार्ड में लगे इस आपत्ती जनक कैमरे को लेकर महिला के परिजनों में भी रोष व्याप्त था साथ ही वार्ड में भर्ती महिलाओं की पूरी दिनचर्या इस कैमरे में कैद हो रही थी जो काफी आपत्तीजनक थी महिला मरीजों की इस आपत्ती को जब यश भारत ने अपने अंक में प्रमुखता से किया गया था जिसके बाद संबंधितों द्वारा आनन फानन में महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगे कैमरे हटा दिये गये अब सवाल यह खड़ा होता है कि यदि यह खबर रेलवे प्रबंधन के समक्ष नही आती तो क्या कैमरे हमेशा लगे ही रहते और महिला वार्ड की पूरी गतिविधियां इसमे कैद हो रही थी इसके साथ ही पूर्व में कैद हुये सभी फुटेजों को कैद करने के पीछे मकषद क्या था यह बात महिला मरीजों के गले से नीचे नहीं उतर रही है।
एमडी ने किया था साफ इंकार
गत दिवस जब रेलवे केन्द्रिय रेलवे अस्पताल के महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगे कैमरे के संबंध में एमडी श्री बारा से चर्चा की गई थी तो उनके द्वारा वार्ड में किसी तरह कैमरे लगने से साफ इंकार किया गया था इससे साफ जाहिर है कि एमडी लगे कैमरे से अनिभज्ञ थे या फिर जानबूझ कर वे जानकारी देने से बच रहे थे। उनकी यह कार्यप्रणाली सवालों को जन्म देती है।
महिला बिंग ने की जांच की मांग

रेलवे अस्पताल के महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगाये गये सीसीटीवी कैमरे की खबर के प्रकाशन के बाद वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ की महिला बिंग की महामंत्री सविता त्रिपाठी ने अपनी आवाज को बुलंद करते हुये इस तरह की घटना पर रोष जताया था और मामले की जांच वरिष्ठ अधिकारियों कराये जाने की मांग भी रखी है साथ इस मामले मे जो भी दोषी पाया जाता है उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि इस तरह से महिला वार्ड मे लगाये गये कैमरे से महिलाओ की निजता पर भी आंच आई है महिला ङ्क्षबंग की महामंत्री ने सविता त्रिपाठी ने मेडिकल डायरेक्टर से जांच की मांग की है।