किस उद्देश्य से लगाये गये महिला वार्ड के बाथरूम के उपर कैमरे…?

रेलवे अस्पताल में महिलाओं की परेशानियां बढ़ी
जबलपुर नगर संवाददाता। हमेशा की तरह चर्चाओं में रहने वाला रेलवे अस्पताल एक बार पुन:सुर्खियों में आ गया है जिसका मुख्य कारण है महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगे सीसीटीवी कैमरे…। केन्द्रीय रेलवे चिकित्सालय के महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगाये गये सीसीटीवी कैमरे से महिला मरीजों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है हालांकि जब इस संबंध मेें एमडी श्री बारा से बात की गई तो उनके द्वारा इस तरह के किसी भी कैमरे लगने से साफ इंकार किया गया है वहीं सूत्रों की मानें तो महिला वार्ड 7व8 के बाथरूम के उपर सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है और यदि ऐसा है तो वह महिलाओं के लिये काफी आपत्ती जनक है क्योंकि महिलाओं की ड्रेसिंग,चेकप एवं स्तनपान सहित उनकी पूरी गतिविधियां इस सीसीटावी में कैद हो रहीं है जो गलत है। उल्लेखीनय है कि अस्पताल की पूरी गतिविधियों एवं सरक्षा की दृष्टी पर नजर रखने के लिये सीसीटीवी कैमरों का होना अति आवश्यक है किन्तु कैमरे यदि महिला वार्ड के बाथरूम के उपर लगे है तो आखिर इसका उद्देश्य क्या है…?
वार्ड में ही नॉर्मल डिलेवरी
रेलवे अस्पताल के संबंध मे एक और जानकारी के मुताबिक प्रसुतिका गृह ही बंद कर दिया। वार्ड 7 व 8 में गर्भवती महिलाएं भी भर्ती होती हैं। जिससे महिलाओं की नॉर्मल डिलेवरी की स्थिति में वार्ड में ही डिलेवरी कराई जाती है वहीं जिनकी डिलेवरी ओटी में होती है उन्हें भी इन्हीं वार्ड में शिफ्ट किया जाता है। ऐसे हालात में इन वार्ड में सीसीटीवी कैमरे लगाने का औचित्य किसी के समझ में नहीं आ रहा। इसकी जांच कर दोषी पर कार्रवाई की जाना चाहिए और कैमरे वार्ड के बाहर शिफ्ट किए जाना चाहिए।
…………………………………………………………