मौसम न फेर दे किसानों की मेहनत पर पानी

खुलें मे रखी एक लाख क्विंटल धान

जबलपुर । सिहोरा एवं मझौली क्षेत्र के करीब 12 खरीदी केंद्रों में लगभग एक लाख क्विंटल धान परिवहन एवं तौल के लिए पड़ी है। पिछले 10 दिनों से बारदानों की कमी से करीब आधे दर्जन से अधिक सेंटरों में किसानों की उपज पड़ी है। वही ई उपार्जन सॉफ्टवेयर की गति धीमी होने से किसानों का बिकी फसल का मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है।
घाटसिमरिया खरीदी केंद्र, सिहोरा कृषि उपज मंडी स्थित खरीदी केंद्र, गोसलपुर खरीदी केंद्र, फनवानी खरीदी केंद्र, पोंड़ा खरीदी केंद्र, बरगी धनगवां खरीदी केंद्र, लखनपुर लमकना खरीदी केंद्र, मझगवां खरीदी केंद्र, शैलवारा खरीदी केंद्र में बिना तुलाई करीब 40 से 50 हजार क्विंटल धान केंद्रों में खुले पड़ी है। जबकि तौल हो चुकी। करीब पचास से साठ हजार क्विंटल धान का परिवहन होना है। वहीं मौसम बिगड़ रहा है। बारिश से बचाने केंद्रों में कोई इंतजाम नहीं है।
आंदोलन करेंगे किसान
पहरेवा, जुनवानी, सिहोरा, फनवानी के किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि प्रशासन अगले दो दिनों में सिहोरा में धान की खरीदी शुरू नहीं करता तो मजबूर होकर उन्हें सड़कों पर उतरना होगा।
अधिकारियों का कहना है कि
तौल के लिए बारदानों की पूर्ति और परिवहन के लिए वाहनों की उपलब्धता कराई जा रही है। शीघ्र ही खरीदी केन्द्रों में पड़ी धान तौल व परिवहन करा दी जाएगी
बारदानों की कमी एवं परिवहन की व्यवस्था कराई जा रही है। कमी वाले केन्द्रों में शीघ्र ही बारदानों का नया लाट सोमवार तक उपलब्ध करा दिया जाएगा।