पहले झूठा फसाया बाद में घर जाकर बनाया वीडियो

आरपीएफ कर्मी पर हो कड़ी कार्रवाही:रेल डीआईजी को सौपा ज्ञापन
जबलपुर नगर संवाददाता। गोंडवाना एक्सप्रेस में अपने रिस्तेदारोंं को बैठाने के लिये गये एक युवक को आरपीएफ के एक कर्मी द्वारा चेंन पुलिंग के जुर्म में की गई गलत कार्रवाई के विरोध्र में सपाक्स पार्टी के जिलाध्यक्ष योगेन्द्र तिवारी और संयोजक डॉ. अजय मिश्रा ने रेल डीआईजी को एक लिखित शिकायत देते हुए उक्त कर्मी पर कारवाई की मांग की है। रेल डीआईजी को सोंपे गये ज्ञापन में सपाक्स पार्टी के अजय मिश्रा ने गंभीर आरोप लगाते हुये बताया कि वह विगत 7 जनवरी को अपने अपने रिस्तेदारों को छोडऩे के लिये स्टेशन आये हुये थे इनके साथ में सलील तिवारी भी साथ में आया हुआ था जिसके विरूद्ध आरपीएफ पोस्ट जबलपुर में पदस्थ एएसआई आईएन बघेल द्वारा बेवजह चेन पुलिंग के जुर्म में फसाया गया जबकि चेन पुलिंग करने वाले को आरपीएफ के दो अन्य कर्मियों ने पहले ही अपनी गिरफ्त में ले लिया गया था इसके बाद भी सलील तिवारी को इस मामले का आरोपी बना कर उसके विरूद्ध चालानी कार्रवाई करते हुये दोनेां को रेल न्यायालय में पेश कर सलील तिवारी को एक हजार का जुर्माना भरना पड़ा था। उसके बाद 8 जनवरी को एएसआई ने सलील के घर पहुंचकर भविष्य बर्बाद करने की धमकी देकर वीडियों बनाया है। इसके पीछे एएसआई की मंशा क्या है उस पर सवाल उठ रहे है। सपाक्स पार्टी का कहना है कि सिविल एरिया में जाकर वीडियों बनाने की जांच होना चाहिए। सलील ने जंजीर नहीं खींची उसके ऊपर जबरन एएसआई ने प्रकरण बनाया इसके लिये प्लेटफार्म पर लगे वीडियों कैमरे की रिकार्डिग को देखा जाए। इस संबंध में सपाक्स पार्टी के जिलाध्यक्ष योगेन्द्र तिवारी ने बताया है कि 7 जनवरी को प्लेटफार्म नंबर 6 से जब गोंडवाना एक्सप्रेस रवाना हुई उसके बाद उसे 3 बार जंजीर खींच कर रोका गया था तभी ड्यूटी पर तैनात आरपीएफ एएसआई आईएन बघेल ने इस मामले को लेकर सलील तिवारी नाम के एक युवक को पकड़ लिया। इसके बाद युवक को पोस्ट ले गये जहां आनन.फानन प्रकरण दर्ज कर उससे 1 हजार रूपये जुर्माना जमा करवाया गया। बताया जाता है कि जंजीर खींचने अनाधिकृत रूप से आरक्षित कोच में सफर के दौरान पक ड़ जाने वाले यात्रियों को जुर्माना जमा करने का प्रावधान है। इस प्रक्रिया के बाद प्रकरण स्वतरू हो जाता है। सपाक्स पार्टी युवा इकाई संयोजक डॉ. अजय मिश्रा का कहना है कि एएसआई की कार्य प्रणाली ठीक नहीं है। बिना जांच पड़ताल किये किसी को भी जंजीर खींचने के आरोप में पकड़ा जाता है। जिलाध्यक्ष अधिवक्ता योगेन्द्र तिवारी के साथ सलील तिवारी पिता सुनील तिवारी और अन्य पार्टी कार्यकताओं ने गुरुवार दोपहर उपमहानिरीक्षक विजय खातरकर से मुलाकात की। इसके बाद सलील ने उपमहानिरीक्षकस्पष्ट किया है कि उसके घर दो आरपीएफ कर्मी आए थे उन्होंने मुझे भविष्य खराब करने की धमकी दी उनका कहना था जैसा हम कह रहे है मोबाइल के सामने वैसा ही बोलना है। डर के कारण सलील ने वहीं किया जो आरपीएफ कर्मी चाहते थे। आश्वासन दिया- सपाक्स पार्टी द्वारा दिये गये ज्ञापन पर उपमहानिरीक्षक विजय खातरकर ने जांच कराकर कारवाई करने का आश्वासन पार्टी को दिया है।