नौकरी के लायक हो कि नहीं पहले होगी परीक्षा

डीओपीटी ने किया बदलाव 2 साल की होगी वैधता
जबलपुर विशेष प्रतिनिधि। अब किसी सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने के पूर्व उम्मीदवार को योग्यता परीक्षा देना होगी परीक्षा पास करने के बाद ही यह तय होगा कि उम्मीदवार किसी पद के लिए आवेदन कर सकता है या नहीं ।उसके बाद ही संबंधित व्यक्तियों के लिए मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर प्राप्त होगा ।प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद अभ्यर्थी 2 वर्ष के लिए कहीं भी नौकरी में आवेदन करने के लिए पात्र होगा ।2 वर्ष पश्चात उसे पुन: सरकारी नौकरी चाहने के लिए योग्यता परीक्षा देनी होगी। इस आशय का संकल्प विगत दिनों राज्य सभा सभा में पारित हो जाने के बाद सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय ने इस आशय के आदेश जारी कर दिए हैं। योग्यता परीक्षा पास किए बिना कोई भी आवेदक बैंक ,रेलवे आदि सरकारी विभागों में आवेदन नहीं कर सकेगा। इसी माह जनवरी में होने वाली प्रारंभिक परीक्षा में करीब 5 करोड़ युवा शामिल होने का अनुमान है।
जानकारी के अनुसार पदों की योग्यता के अनुरूप इसमें पद की योग्यता स्नातक हर सेकेंडरी और हाईस्कूल की परीक्षा होगी ।सरकार का मानना है कि इस प्रक्रिया से किसी रिक्तियों के लिए आने वाले अंधाधुंध आवेदनों की संख्या पर अंकुश लगेगा ।
हाल ही में रेलवे में चतुर्थ श्रेणी केएक लाख पद के लिए2 करोड़ से ज्यादा आवेदन आए थे। जिसके लिए कई चरणों में परीक्षा ली गई ।करीब 1 वर्ष पूरा होने के बाद अभी तक कोई नियुक्ति पत्र जारी नहीं हुआ है ।यह भी स्मरणीय है कि पूर्व में लोक सेवा आयोग केंद्र और राज्य में योग्यता परीक्षा की शुरुआत की थी ।जिसे अब निचले स्तर पर लागू कर दिया गया है ।सरकार के इस निर्णय पर लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया है एक ओर जहां कहा जा रहा है कि, अब केवल योग उम्मीदवार ही सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे। वहीं दूसरी ओर लोगों का कहना है कि उन संस्थाओं की परीक्षाओं की विश्वसनीयता नहीं रह गई है ।जहां से अभ्यर्थी ने स्नातक, हायर सेकेंडरी और दसवीं की परीक्षा पास की है ।साथ ही सरकार सरकारी नौकरी के लिए तरह तरह से अ?ंगे लगा रही है इससे बहुत से व्यक्ति नौकरी की आयु पात्रता से वंचित हो जाएंगे।