क्यूं कल वाले गड्ढे कहा गए ?

सामूहिक बंदे मातरम कार्यक्रम प्रदेश भाजपा के आव्हान पर आज कलेक्टर कार्यालय के परिसर में प्रात दस बजे किया गया। कार्यक्रम के दौरान भाजपा का एक नया गुट सामने आया जो नेता पाटन विधायक के कार्यक्रम में नदारत थे वे आज मुस्तैदी से बंदे मातरम गाते नजर आए। देखने वाली बात थी कि कार्यक्रम के दौरान भाजपा के नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर पहुंचे इन्होने बताया कि पार्टीजनों के नेतृत्व में आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता, पदाधिकारी और गणमान्य नागरिकों ने भाग लिया।
गढ्डों का मतलब पाटन विधायक का कार्यक्रम था
जैसे ही पूर्व मंत्री कलेक्टर कार्यालय पहुंचे तो उन्होने जीएस ठाकुर से पूछा कि क्यूं कल के गढ्डे कहा गए। राज्य मंत्री की इस बात से नगर अध्यक्ष मुस्कुरा दिए। आसपास खड़े लोग दबी जुबां से इस दृश्य को देखकर कहते नजर आए कि जब संगठन का मुखिया ही इस तरह की प्रवृत्तियों को बढ़ावा दे रहा है तो विधानसभा चुनाव मे बुरा हश्र होना तय ही था।
छोटे-छोटे कबीलों में तब्दील भाजपा
भाजपा अब कई गुटों में बंटी नजर आ रही है विधानसभा चुनाव हारने के बाद ये गुटबाजी स्पष्ट तौर पर नजर आने लगी है। प्राय देखा जा रहा है िक जहां कार्यक्रमों के दौरान भाजपा को एकजुटता दिखाने का प्रयास करना चाहिए वही भाजपा के बड़े नेता गुटबाजी को सभी के सामने प्रदर्शित करते नजर आ रहे है।
कल वाला गुट आज दिखा नदारत
पाटन विधायक के कल हुए कार्यक्रम में कल जिन भाजपा नेताओं ने शिरकत की थी वे नेता आज कलेक्टर परिसर में आयोजित कार्यक्रमों से दूरी बनाते नजर आए। कल हुए कार्यक्रम के वे चेहरे आज कलेक्टर परिसर में आयोजित कार्यक्रम में नदारत दिखे।
नेता प्रतिपक्ष के बाद हो सकती है नए नगर अध्यक्ष की घोषणा
गौरतलब है कि वर्तमान भाजपा अध्यक्ष जीएस ठाकुर का कार्यकाल समाप्त हो चुका है। और नए भाजपा नगर अध्यक्ष की ताजपोशी की घोषणा नही होने से अब लोगों में बेकरारी देखी जा रही है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की घोषणा के बाद ही जबलपुर के नए नगर अध्यक्ष की घोषणा की जा सकती है।
लोकसभा चुनाव के लिए खतरें की घंटी
विधानसभा चुनाव में जबलपुर जिलें की दुर्गति के पीछे संगठन मंत्री और प्रदेश अध्यक्ष की खींचतान किसी से भी छुपी नही है। इसी खींचतान का परिणाम है कि जबलपुर जिलें में तीस सालों के बाद कांग्रेस ने एक बार फिर जिलें की चार सीटों पर कब्जा कर लिया। वही भाजपा नेताओं की जारी ये गुटबाजी एक बार फिर लोकसभा चुनाव में भाजपा की लुटिया डुबो सकती है।
ये रहे आज कार्यक्रम में उपस्थित
नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर, पूर्व राज्यमंत्री शरद जैन, श्रीमति स्वाति गोडबोले, महिला मोर्चा अध्यक्ष अश्विनी परांजपे, रूपा राव, राजभटनागर, चन्द्रशेखर पटेल, कमल सिंह, अनिकेत चौरसिया, आकाश, मोनू पटेल सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।