पुलिस कप्तान छुट्टी पर मातहतों की मौज

नए साल पर हुडदंगियों पर नकेल कसने नही दिख रही तैयारीयां
जबलपुर। नये साल के जश्र के दौरान शराब के नशे में डूबे हुडदंगियो पर नकेल कसने के लिये पुलिस के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे है। शहर की सड़कों पर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वाली युवाओं की टोली पर शिकंजा कसने पुलिस की तैयारियां जमीनी स्तर पर दिखाई नही दे रही है। यहां तक कि नशे में डूबे लोगों पर नकेल कसने के लिये पुलिस की तत्परता दिखाई नही पड़ रही है। यहां तक कि ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड राडार में कमरों में पड़े धूल खा रहे है। विभिन्न चौराहों में वाहनो की चेकिंग के नाम पर जुर्माना वसूल करना ही पुलिस का एकमात्र उद्देश्य दिखाई दे रहा है। पुलिस अधीक्षक के छुट्टी पर जाते ही पुलिस कर्मी अब निष्क्रिय नजर आ रहे है। पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा अब ये तत्व उठाते नजर आ रहे है। जिस कारण देर रात तक हुड़दंगिए सड़कों पर कोहराम मचाकर लोगों को भयभीत कर रहे है।
क्या है ब्रीथ एनालाइजर
ब्रीथ एनालाइजर का उपयोग पुलिसकर्मी वाहन चला रहे लोगों के नशे मे होने की जानकारी देता है। इसमे फूंक मारने से यह जानकारी मिलती है कि वाहन चला रहा व्यक्ति शराब के नशे मे है।
वर्तमान स्थिति
प्रतीत होता है कि पुलिसकर्मीयों कि अभी तक विधानसभा चुनाव की खुमारी उतरी नही है, पुलिस कप्तान सहित ज्यादातर अधिकारी और पुलिसकर्मी छुट्टियों पर है
जिसके चलते थाना क्षेत्रों की पुलिस चौराहो पर केवल वाहन चेकिंग करते दिखाई देते है। अपराधियों की धरपकड़ करने के बजाए ये एक दो घंटे जमकर वसूली कर गायब हो जाते है जिसके बाद ये चौराहे भगवान भरोसे हो जाते है और नशे मे धुत युवा पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा उठाकर सड़कों पर देर रात कोहराम मचाते हुए भय का वातावरण निर्मित करते है।
शाम होते ही अहाते आबाद
शराबियों के हुड़दंग से प्रभावित सबसे ज्यादा बुरी स्थिति लटकारी का पड़ाव, कृषि उपज मण्डी, निवाडग़ंज सब्जी मण्डी जैसे क्षेत्रों में देखी जा सकती है। जहां शाम होते ही ठेलों में अहाते खुल जाते है। शराबखोरी का दौर शाम होते ही जो शुरू होता है जो अलसुबह तक जारी रहता है। शराबियों द्वारा गालीगलौज और उत्पात मचाना यहां आम बात हो गयी है। पुलिस की निष्क्रियता के कारण यहां के व्यापारियों और रहवासी भयजदा रहने मजबूर है।
यातायात विभाग तैयारियों पर पानी फेरती थाना पुलिस
शहर में यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा व्यवस्था सुधारने को लेकर गंभीर नजर आ रहे है, लेकिन थाना क्षेत्रों की पुलिस की निष्क्रियता इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। यातायात विभाग के कर्मी इन आधुनिक संसाधनों क ा उपयोग भरपूर कर रहे है लेकिन थानों की पुलिस की निष्क्रियता इन प्रयासों पर पानी फेर रही है।
संसाधनों का यातायात विभाग करेगा भरपूर उपयोग
यातायात विभाग ने नये वर्ष में शराबियों और हुड़दंगियों पर नकेल कसने व्यापक तैयारियां कि हुई है शहर के मुख्य चौराहों पर जमे यातायात कर्मी मुस्तैदी से तैनात होकर आसामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने तैयार नजर आ रहे है। शराबियों पर कार्रवाई करने जहां ब्रीथ एनालाइजर का भरपूर उपयोग किया जा रहा है वही तेज रफ्तार भाग रहे वाहनों को भी स्पीड राडार से चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शहर में पहली बार कैमरों का भी भरपूर उपयोग किया जाएगा ताकि विषम परिस्थितियां उत्पन्न होने पर ये कैमरें सच को कैद कर सके ।
नये साल के पूर्व यातायात विभाग पूरी तरह मुस्तैद है शहर के सभी स्थानो ंको चिन्हित कर लिया गया है जहां यातायातकर्मी शराब पीकर वाहन चला रहे लोगों के साथ ही तेज रफ्तार वाहन चालकों पर भी कार्रवाई कर दण्डित करेगें ।
अमृत मीणा, पुलिस अधीक्षक यातायात विभाग पुलिस कप्तान छुट्टी पर मातहतों की मौज
नए साल पर हुडदंगियों पर नकेल कसने नही दिख रही तैयारीयां
जबलपुर। नये साल के जश्र के दौरान शराब के नशे में डूबे हुडदंगियो पर नकेल कसने के लिये पुलिस के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे है। शहर की सड़कों पर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वाली युवाओं की टोली पर शिकंजा कसने पुलिस की तैयारियां जमीनी स्तर पर दिखाई नही दे रही है। यहां तक कि नशे में डूबे लोगों पर नकेल कसने के लिये पुलिस की तत्परता दिखाई नही पड़ रही है। यहां तक कि ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड राडार में कमरों में पड़े धूल खा रहे है। विभिन्न चौराहों में वाहनो की चेकिंग के नाम पर जुर्माना वसूल करना ही पुलिस का एकमात्र उद्देश्य दिखाई दे रहा है। पुलिस अधीक्षक के छुट्टी पर जाते ही पुलिस कर्मी अब निष्क्रिय नजर आ रहे है। पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा अब ये तत्व उठाते नजर आ रहे है। जिस कारण देर रात तक हुड़दंगिए सड़कों पर कोहराम मचाकर लोगों को भयभीत कर रहे है।
क्या है ब्रीथ एनालाइजर
ब्रीथ एनालाइजर का उपयोग पुलिसकर्मी वाहन चला रहे लोगों के नशे मे होने की जानकारी देता है। इसमे फूंक मारने से यह जानकारी मिलती है कि वाहन चला रहा व्यक्ति शराब के नशे मे है।
वर्तमान स्थिति
प्रतीत होता है कि पुलिसकर्मीयों कि अभी तक विधानसभा चुनाव की खुमारी उतरी नही है, पुलिस कप्तान सहित ज्यादातर अधिकारी और पुलिसकर्मी छुट्टियों पर है
जिसके चलते थाना क्षेत्रों की पुलिस चौराहो पर केवल वाहन चेकिंग करते दिखाई देते है। अपराधियों की धरपकड़ करने के बजाए ये एक दो घंटे जमकर वसूली कर गायब हो जाते है जिसके बाद ये चौराहे भगवान भरोसे हो जाते है और नशे मे धुत युवा पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा उठाकर सड़कों पर देर रात कोहराम मचाते हुए भय का वातावरण निर्मित करते है।
शाम होते ही अहाते आबाद
शराबियों के हुड़दंग से प्रभावित सबसे ज्यादा बुरी स्थिति लटकारी का पड़ाव, कृषि उपज मण्डी, निवाडग़ंज सब्जी मण्डी जैसे क्षेत्रों में देखी जा सकती है। जहां शाम होते ही ठेलों में अहाते खुल जाते है। शराबखोरी का दौर शाम होते ही जो शुरू होता है जो अलसुबह तक जारी रहता है। शराबियों द्वारा गालीगलौज और उत्पात मचाना यहां आम बात हो गयी है। पुलिस की निष्क्रियता के कारण यहां के व्यापारियों और रहवासी भयजदा रहने मजबूर है।
यातायात विभाग तैयारियों पर पानी फेरती थाना पुलिस
शहर में यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा व्यवस्था सुधारने को लेकर गंभीर नजर आ रहे है, लेकिन थाना क्षेत्रों की पुलिस की निष्क्रियता इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। यातायात विभाग के कर्मी इन आधुनिक संसाधनों क ा उपयोग भरपूर कर रहे है लेकिन थानों की पुलिस की निष्क्रियता इन प्रयासों पर पानी फेर रही है।
संसाधनों का यातायात विभाग करेगा भरपूर उपयोग
यातायात विभाग ने नये वर्ष में शराबियों और हुड़दंगियों पर नकेल कसने व्यापक तैयारियां कि हुई है शहर के मुख्य चौराहों पर जमे यातायात कर्मी मुस्तैदी से तैनात होकर आसामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने तैयार नजर आ रहे है। शराबियों पर कार्रवाई करने जहां ब्रीथ एनालाइजर का भरपूर उपयोग किया जा रहा है वही तेज रफ्तार भाग रहे वाहनों को भी स्पीड राडार से चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शहर में पहली बार कैमरों का भी भरपूर उपयोग किया जाएगा ताकि विषम परिस्थितियां उत्पन्न होने पर ये कैमरें सच को कैद कर सके ।
नये साल के पूर्व यातायात विभाग पूरी तरह मुस्तैद है शहर के सभी स्थानो ंको चिन्हित कर लिया गया है जहां यातायातकर्मी शराब पीकर वाहन चला रहे लोगों के साथ ही तेज रफ्तार वाहन चालकों पर भी कार्रवाई कर दण्डित करेगें ।
अमृत मीणा, पुलिस अधीक्षक यातायात विभाग पुलिस कप्तान छुट्टी पर मातहतों की मौज
नए साल पर हुडदंगियों पर नकेल कसने नही दिख रही तैयारीयां
जबलपुर। नये साल के जश्र के दौरान शराब के नशे में डूबे हुडदंगियो पर नकेल कसने के लिये पुलिस के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे है। शहर की सड़कों पर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वाली युवाओं की टोली पर शिकंजा कसने पुलिस की तैयारियां जमीनी स्तर पर दिखाई नही दे रही है। यहां तक कि नशे में डूबे लोगों पर नकेल कसने के लिये पुलिस की तत्परता दिखाई नही पड़ रही है। यहां तक कि ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड राडार में कमरों में पड़े धूल खा रहे है। विभिन्न चौराहों में वाहनो की चेकिंग के नाम पर जुर्माना वसूल करना ही पुलिस का एकमात्र उद्देश्य दिखाई दे रहा है। पुलिस अधीक्षक के छुट्टी पर जाते ही पुलिस कर्मी अब निष्क्रिय नजर आ रहे है। पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा अब ये तत्व उठाते नजर आ रहे है। जिस कारण देर रात तक हुड़दंगिए सड़कों पर कोहराम मचाकर लोगों को भयभीत कर रहे है।
क्या है ब्रीथ एनालाइजर
ब्रीथ एनालाइजर का उपयोग पुलिसकर्मी वाहन चला रहे लोगों के नशे मे होने की जानकारी देता है। इसमे फूंक मारने से यह जानकारी मिलती है कि वाहन चला रहा व्यक्ति शराब के नशे मे है।
वर्तमान स्थिति
प्रतीत होता है कि पुलिसकर्मीयों कि अभी तक विधानसभा चुनाव की खुमारी उतरी नही है, पुलिस कप्तान सहित ज्यादातर अधिकारी और पुलिसकर्मी छुट्टियों पर है
जिसके चलते थाना क्षेत्रों की पुलिस चौराहो पर केवल वाहन चेकिंग करते दिखाई देते है। अपराधियों की धरपकड़ करने के बजाए ये एक दो घंटे जमकर वसूली कर गायब हो जाते है जिसके बाद ये चौराहे भगवान भरोसे हो जाते है और नशे मे धुत युवा पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा उठाकर सड़कों पर देर रात कोहराम मचाते हुए भय का वातावरण निर्मित करते है।
शाम होते ही अहाते आबाद
शराबियों के हुड़दंग से प्रभावित सबसे ज्यादा बुरी स्थिति लटकारी का पड़ाव, कृषि उपज मण्डी, निवाडग़ंज सब्जी मण्डी जैसे क्षेत्रों में देखी जा सकती है। जहां शाम होते ही ठेलों में अहाते खुल जाते है। शराबखोरी का दौर शाम होते ही जो शुरू होता है जो अलसुबह तक जारी रहता है। शराबियों द्वारा गालीगलौज और उत्पात मचाना यहां आम बात हो गयी है। पुलिस की निष्क्रियता के कारण यहां के व्यापारियों और रहवासी भयजदा रहने मजबूर है।
यातायात विभाग तैयारियों पर पानी फेरती थाना पुलिस
शहर में यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा व्यवस्था सुधारने को लेकर गंभीर नजर आ रहे है, लेकिन थाना क्षेत्रों की पुलिस की निष्क्रियता इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। यातायात विभाग के कर्मी इन आधुनिक संसाधनों क ा उपयोग भरपूर कर रहे है लेकिन थानों की पुलिस की निष्क्रियता इन प्रयासों पर पानी फेर रही है।
संसाधनों का यातायात विभाग करेगा भरपूर उपयोग
यातायात विभाग ने नये वर्ष में शराबियों और हुड़दंगियों पर नकेल कसने व्यापक तैयारियां कि हुई है शहर के मुख्य चौराहों पर जमे यातायात कर्मी मुस्तैदी से तैनात होकर आसामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने तैयार नजर आ रहे है। शराबियों पर कार्रवाई करने जहां ब्रीथ एनालाइजर का भरपूर उपयोग किया जा रहा है वही तेज रफ्तार भाग रहे वाहनों को भी स्पीड राडार से चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शहर में पहली बार कैमरों का भी भरपूर उपयोग किया जाएगा ताकि विषम परिस्थितियां उत्पन्न होने पर ये कैमरें सच को कैद कर सके ।
नये साल के पूर्व यातायात विभाग पूरी तरह मुस्तैद है शहर के सभी स्थानो ंको चिन्हित कर लिया गया है जहां यातायातकर्मी शराब पीकर वाहन चला रहे लोगों के साथ ही तेज रफ्तार वाहन चालकों पर भी कार्रवाई कर दण्डित करेगें ।
अमृत मीणा, पुलिस अधीक्षक यातायात विभाग पुलिस कप्तान छुट्टी पर मातहतों की मौज
नए साल पर हुडदंगियों पर नकेल कसने नही दिख रही तैयारीयां
जबलपुर। नये साल के जश्र के दौरान शराब के नशे में डूबे हुडदंगियो पर नकेल कसने के लिये पुलिस के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे है। शहर की सड़कों पर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वाली युवाओं की टोली पर शिकंजा कसने पुलिस की तैयारियां जमीनी स्तर पर दिखाई नही दे रही है। यहां तक कि नशे में डूबे लोगों पर नकेल कसने के लिये पुलिस की तत्परता दिखाई नही पड़ रही है। यहां तक कि ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड राडार में कमरों में पड़े धूल खा रहे है। विभिन्न चौराहों में वाहनो की चेकिंग के नाम पर जुर्माना वसूल करना ही पुलिस का एकमात्र उद्देश्य दिखाई दे रहा है। पुलिस अधीक्षक के छुट्टी पर जाते ही पुलिस कर्मी अब निष्क्रिय नजर आ रहे है। पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा अब ये तत्व उठाते नजर आ रहे है। जिस कारण देर रात तक हुड़दंगिए सड़कों पर कोहराम मचाकर लोगों को भयभीत कर रहे है।
क्या है ब्रीथ एनालाइजर
ब्रीथ एनालाइजर का उपयोग पुलिसकर्मी वाहन चला रहे लोगों के नशे मे होने की जानकारी देता है। इसमे फूंक मारने से यह जानकारी मिलती है कि वाहन चला रहा व्यक्ति शराब के नशे मे है।
वर्तमान स्थिति
प्रतीत होता है कि पुलिसकर्मीयों कि अभी तक विधानसभा चुनाव की खुमारी उतरी नही है, पुलिस कप्तान सहित ज्यादातर अधिकारी और पुलिसकर्मी छुट्टियों पर है
जिसके चलते थाना क्षेत्रों की पुलिस चौराहो पर केवल वाहन चेकिंग करते दिखाई देते है। अपराधियों की धरपकड़ करने के बजाए ये एक दो घंटे जमकर वसूली कर गायब हो जाते है जिसके बाद ये चौराहे भगवान भरोसे हो जाते है और नशे मे धुत युवा पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा उठाकर सड़कों पर देर रात कोहराम मचाते हुए भय का वातावरण निर्मित करते है।
शाम होते ही अहाते आबाद
शराबियों के हुड़दंग से प्रभावित सबसे ज्यादा बुरी स्थिति लटकारी का पड़ाव, कृषि उपज मण्डी, निवाडग़ंज सब्जी मण्डी जैसे क्षेत्रों में देखी जा सकती है। जहां शाम होते ही ठेलों में अहाते खुल जाते है। शराबखोरी का दौर शाम होते ही जो शुरू होता है जो अलसुबह तक जारी रहता है। शराबियों द्वारा गालीगलौज और उत्पात मचाना यहां आम बात हो गयी है। पुलिस की निष्क्रियता के कारण यहां के व्यापारियों और रहवासी भयजदा रहने मजबूर है।
यातायात विभाग तैयारियों पर पानी फेरती थाना पुलिस
शहर में यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा व्यवस्था सुधारने को लेकर गंभीर नजर आ रहे है, लेकिन थाना क्षेत्रों की पुलिस की निष्क्रियता इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। यातायात विभाग के कर्मी इन आधुनिक संसाधनों क ा उपयोग भरपूर कर रहे है लेकिन थानों की पुलिस की निष्क्रियता इन प्रयासों पर पानी फेर रही है।
संसाधनों का यातायात विभाग करेगा भरपूर उपयोग
यातायात विभाग ने नये वर्ष में शराबियों और हुड़दंगियों पर नकेल कसने व्यापक तैयारियां कि हुई है शहर के मुख्य चौराहों पर जमे यातायात कर्मी मुस्तैदी से तैनात होकर आसामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने तैयार नजर आ रहे है। शराबियों पर कार्रवाई करने जहां ब्रीथ एनालाइजर का भरपूर उपयोग किया जा रहा है वही तेज रफ्तार भाग रहे वाहनों को भी स्पीड राडार से चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शहर में पहली बार कैमरों का भी भरपूर उपयोग किया जाएगा ताकि विषम परिस्थितियां उत्पन्न होने पर ये कैमरें सच को कैद कर सके ।
नये साल के पूर्व यातायात विभाग पूरी तरह मुस्तैद है शहर के सभी स्थानो ंको चिन्हित कर लिया गया है जहां यातायातकर्मी शराब पीकर वाहन चला रहे लोगों के साथ ही तेज रफ्तार वाहन चालकों पर भी कार्रवाई कर दण्डित करेगें ।
अमृत मीणा, पुलिस अधीक्षक यातायात विभाग पुलिस कप्तान छुट्टी पर मातहतों की मौज
नए साल पर हुडदंगियों पर नकेल कसने नही दिख रही तैयारीयां
जबलपुर। नये साल के जश्र के दौरान शराब के नशे में डूबे हुडदंगियो पर नकेल कसने के लिये पुलिस के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे है। शहर की सड़कों पर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वाली युवाओं की टोली पर शिकंजा कसने पुलिस की तैयारियां जमीनी स्तर पर दिखाई नही दे रही है। यहां तक कि नशे में डूबे लोगों पर नकेल कसने के लिये पुलिस की तत्परता दिखाई नही पड़ रही है। यहां तक कि ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड राडार में कमरों में पड़े धूल खा रहे है। विभिन्न चौराहों में वाहनो की चेकिंग के नाम पर जुर्माना वसूल करना ही पुलिस का एकमात्र उद्देश्य दिखाई दे रहा है। पुलिस अधीक्षक के छुट्टी पर जाते ही पुलिस कर्मी अब निष्क्रिय नजर आ रहे है। पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा अब ये तत्व उठाते नजर आ रहे है। जिस कारण देर रात तक हुड़दंगिए सड़कों पर कोहराम मचाकर लोगों को भयभीत कर रहे है।
क्या है ब्रीथ एनालाइजर
ब्रीथ एनालाइजर का उपयोग पुलिसकर्मी वाहन चला रहे लोगों के नशे मे होने की जानकारी देता है। इसमे फूंक मारने से यह जानकारी मिलती है कि वाहन चला रहा व्यक्ति शराब के नशे मे है।
वर्तमान स्थिति
प्रतीत होता है कि पुलिसकर्मीयों कि अभी तक विधानसभा चुनाव की खुमारी उतरी नही है, पुलिस कप्तान सहित ज्यादातर अधिकारी और पुलिसकर्मी छुट्टियों पर है
जिसके चलते थाना क्षेत्रों की पुलिस चौराहो पर केवल वाहन चेकिंग करते दिखाई देते है। अपराधियों की धरपकड़ करने के बजाए ये एक दो घंटे जमकर वसूली कर गायब हो जाते है जिसके बाद ये चौराहे भगवान भरोसे हो जाते है और नशे मे धुत युवा पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा उठाकर सड़कों पर देर रात कोहराम मचाते हुए भय का वातावरण निर्मित करते है।
शाम होते ही अहाते आबाद
शराबियों के हुड़दंग से प्रभावित सबसे ज्यादा बुरी स्थिति लटकारी का पड़ाव, कृषि उपज मण्डी, निवाडग़ंज सब्जी मण्डी जैसे क्षेत्रों में देखी जा सकती है। जहां शाम होते ही ठेलों में अहाते खुल जाते है। शराबखोरी का दौर शाम होते ही जो शुरू होता है जो अलसुबह तक जारी रहता है। शराबियों द्वारा गालीगलौज और उत्पात मचाना यहां आम बात हो गयी है। पुलिस की निष्क्रियता के कारण यहां के व्यापारियों और रहवासी भयजदा रहने मजबूर है।
यातायात विभाग तैयारियों पर पानी फेरती थाना पुलिस
शहर में यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा व्यवस्था सुधारने को लेकर गंभीर नजर आ रहे है, लेकिन थाना क्षेत्रों की पुलिस की निष्क्रियता इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। यातायात विभाग के कर्मी इन आधुनिक संसाधनों क ा उपयोग भरपूर कर रहे है लेकिन थानों की पुलिस की निष्क्रियता इन प्रयासों पर पानी फेर रही है।
संसाधनों का यातायात विभाग करेगा भरपूर उपयोग
यातायात विभाग ने नये वर्ष में शराबियों और हुड़दंगियों पर नकेल कसने व्यापक तैयारियां कि हुई है शहर के मुख्य चौराहों पर जमे यातायात कर्मी मुस्तैदी से तैनात होकर आसामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने तैयार नजर आ रहे है। शराबियों पर कार्रवाई करने जहां ब्रीथ एनालाइजर का भरपूर उपयोग किया जा रहा है वही तेज रफ्तार भाग रहे वाहनों को भी स्पीड राडार से चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शहर में पहली बार कैमरों का भी भरपूर उपयोग किया जाएगा ताकि विषम परिस्थितियां उत्पन्न होने पर ये कैमरें सच को कैद कर सके ।
नये साल के पूर्व यातायात विभाग पूरी तरह मुस्तैद है शहर के सभी स्थानो ंको चिन्हित कर लिया गया है जहां यातायातकर्मी शराब पीकर वाहन चला रहे लोगों के साथ ही तेज रफ्तार वाहन चालकों पर भी कार्रवाई कर दण्डित करेगें ।
अमृत मीणा, पुलिस अधीक्षक यातायात विभाग पुलिस कप्तान छुट्टी पर मातहतों की मौज
नए साल पर हुडदंगियों पर नकेल कसने नही दिख रही तैयारीयां
जबलपुर। नये साल के जश्र के दौरान शराब के नशे में डूबे हुडदंगियो पर नकेल कसने के लिये पुलिस के इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे है। शहर की सड़कों पर तेज रफ्तार से वाहन चलाने वाली युवाओं की टोली पर शिकंजा कसने पुलिस की तैयारियां जमीनी स्तर पर दिखाई नही दे रही है। यहां तक कि नशे में डूबे लोगों पर नकेल कसने के लिये पुलिस की तत्परता दिखाई नही पड़ रही है। यहां तक कि ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड राडार में कमरों में पड़े धूल खा रहे है। विभिन्न चौराहों में वाहनो की चेकिंग के नाम पर जुर्माना वसूल करना ही पुलिस का एकमात्र उद्देश्य दिखाई दे रहा है। पुलिस अधीक्षक के छुट्टी पर जाते ही पुलिस कर्मी अब निष्क्रिय नजर आ रहे है। पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा अब ये तत्व उठाते नजर आ रहे है। जिस कारण देर रात तक हुड़दंगिए सड़कों पर कोहराम मचाकर लोगों को भयभीत कर रहे है।
क्या है ब्रीथ एनालाइजर
ब्रीथ एनालाइजर का उपयोग पुलिसकर्मी वाहन चला रहे लोगों के नशे मे होने की जानकारी देता है। इसमे फूंक मारने से यह जानकारी मिलती है कि वाहन चला रहा व्यक्ति शराब के नशे मे है।
वर्तमान स्थिति
प्रतीत होता है कि पुलिसकर्मीयों कि अभी तक विधानसभा चुनाव की खुमारी उतरी नही है, पुलिस कप्तान सहित ज्यादातर अधिकारी और पुलिसकर्मी छुट्टियों पर है
जिसके चलते थाना क्षेत्रों की पुलिस चौराहो पर केवल वाहन चेकिंग करते दिखाई देते है। अपराधियों की धरपकड़ करने के बजाए ये एक दो घंटे जमकर वसूली कर गायब हो जाते है जिसके बाद ये चौराहे भगवान भरोसे हो जाते है और नशे मे धुत युवा पुलिस की इसी निष्क्रियता का फायदा उठाकर सड़कों पर देर रात कोहराम मचाते हुए भय का वातावरण निर्मित करते है।
शाम होते ही अहाते आबाद
शराबियों के हुड़दंग से प्रभावित सबसे ज्यादा बुरी स्थिति लटकारी का पड़ाव, कृषि उपज मण्डी, निवाडग़ंज सब्जी मण्डी जैसे क्षेत्रों में देखी जा सकती है। जहां शाम होते ही ठेलों में अहाते खुल जाते है। शराबखोरी का दौर शाम होते ही जो शुरू होता है जो अलसुबह तक जारी रहता है। शराबियों द्वारा गालीगलौज और उत्पात मचाना यहां आम बात हो गयी है। पुलिस की निष्क्रियता के कारण यहां के व्यापारियों और रहवासी भयजदा रहने मजबूर है।
यातायात विभाग तैयारियों पर पानी फेरती थाना पुलिस
शहर में यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमृत मीणा व्यवस्था सुधारने को लेकर गंभीर नजर आ रहे है, लेकिन थाना क्षेत्रों की पुलिस की निष्क्रियता इनके प्रयासों पर पानी फेर रही है। यातायात विभाग के कर्मी इन आधुनिक संसाधनों क ा उपयोग भरपूर कर रहे है लेकिन थानों की पुलिस की निष्क्रियता इन प्रयासों पर पानी फेर रही है।
संसाधनों का यातायात विभाग करेगा भरपूर उपयोग
यातायात विभाग ने नये वर्ष में शराबियों और हुड़दंगियों पर नकेल कसने व्यापक तैयारियां कि हुई है शहर के मुख्य चौराहों पर जमे यातायात कर्मी मुस्तैदी से तैनात होकर आसामाजिक तत्वों पर लगाम लगाने तैयार नजर आ रहे है। शराबियों पर कार्रवाई करने जहां ब्रीथ एनालाइजर का भरपूर उपयोग किया जा रहा है वही तेज रफ्तार भाग रहे वाहनों को भी स्पीड राडार से चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शहर में पहली बार कैमरों का भी भरपूर उपयोग किया जाएगा ताकि विषम परिस्थितियां उत्पन्न होने पर ये कैमरें सच को कैद कर सके ।
नये साल के पूर्व यातायात विभाग पूरी तरह मुस्तैद है शहर के सभी स्थानो ंको चिन्हित कर लिया गया है जहां यातायातकर्मी शराब पीकर वाहन चला रहे लोगों के साथ ही तेज रफ्तार वाहन चालकों पर भी कार्रवाई कर दण्डित करेगें ।
अमृत मीणा, पुलिस अधीक्षक यातायात विभाग