चार दिन बाद भी विनीता हत्याकांड में पुलिस के हाथ खाली

दावा: जल्द कर देंगे खुलासा
जबलपुर, मुनप्र। सोमवार की रात गढ़ा क्षेत्र के अंजनी विहार में रहने वाली एक इंजीनियर की पत्नी विनीता बाजपेयी जब घर में अकेली थी तब अज्ञात तत्वों ने उसकी गला घोंटकर और बेसबॉल के डंडों से हमला कर हत्या कर दी थी। महिला का पति नरसिंहपुर से लौटकर आया तो उसे पता चला कि किसी ने उसकी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया है। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस के आला अफसर और स्थानीय थाने की पुलिस के साथ ही एफएसएल टीम मौके पर पहुंच गयी थी और प्रारंभिक जांच पड़ताल करनेके बाद शव को पीएम के लिए सौंप दिया। घटना घटित हुए चार दिन बीत चुके हैं लेकिन पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी अभी भी कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि पुलिस पूरी गंभीरता से इस अंधे हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में लगी है और जल्द ही पुलिस इसका खुलासा भी कर देगी। अतिरिक्त पुलिस संजीव उईके से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि अभी कोई सफलता तो नहीं मिली है और पुलिस के लिए यह हत्याकांड की गुत्थी सुलझाना बड़ी चुनौती साबित हो रही है। हालांकि पुलिस ने अपनी जांच पड़ताल में परिजनों के बयान आदि तो दर्ज कर लिये हैं और कुछ संदिग्धों पर भी नजर रखे हुए है। एएसपी श्री उईके के मुताबिक शीघ्र ही इस हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया जाएगा और हत्या का कारण भी सामने आ जाएगा। वहीं थाने में मौजूद पुलिस कर्मी से जब बात हुई तो उसने इस मामले में कोई विशेष जानकारी न होने की बात कर मामले को टरका दिया और यह कहकर अपना पल्लू झाड़ लिया कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ हो सकता है। कुल मिलाकर अभी तक इस जघन हत्याकांड में पुलिस के हाथ खाली नजर आ रहे हैं। पुलिस परिवार के लोगों के संपर्क में तो है ही साथ ही मुखबिरों से संदिग्धों के बारे में जो जानकारी लग रही है उसके आधार पर ही संदिग्धों को पकड़कर उनसे पूछताछ की जा रही है लेकिन अभी कोई उल्लेखनीय सफलता पुलिस को नहीं मिल पायी है।
उल्लेखनीय है कि सोमवार की शाम अंजनी विहार गढ़ा निवासी विनीता बाजपेयी की अंधी हत्या के मामले में एक तरफ तो पुलिस यह कहती है कि उसके हाथ महत्वपूर्ण सुराग लगे हैं जिसके आधार पर जल्द ही इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया जाएगा। वहीं दूसरी तरफ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी यह भी कहते हैं कि अभी उसमें कोई ऐसी बात सामने नहीं आयी है जिससे मामले का खुलासा हो सके। पुलिस अपना पूरा ध्यान परिवार और कुछ संदिग्धों पर बनाए हुए है। और संदिग्धों से पूछताछ भी की जा रही है। गत दिवस पुलिस की एक टीम ने नरसिंहपुर के मोगली गांव में जाकर विनीता के बुजुर्ग माता पिता के बयान की कवायद की। लेकिन बेटी की मौत से सदमे में होने के कारण उनके कोई ज्यादा जानकारी पुलिस को नहीं लग पायी। इसी तरह एक टीम मनीष बाजपेयी के पैतृक घर मंडला भी गयी। जहां परिवार के सदस्यों से पूछताछ की गयी। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजीव उईके से संपर्क करने पर उनका कहना था कि कुछ संदिग्धों के बारे में कुछ जानकारी जरूर लगी है और उनकी लोकेशन वगैरह ट्रेस करने में पुलिस लगी हुई है। इसके अलावा मोबाइल डिटेल के साथ संदिग्धों की घटना के समय उनकी लोकेशन कहां थी इस बात का भी पता लगाया जा रहा है। और यह दोनों चीजें पुलिस इन्वेस्टीकेशन के लिए जरूरी भी हैं। एएसपी श्री उइैके का कहना है कि पुलिस पूरी गंभीरता से इस अंधी हत्या की गुत्थी को सुलझाने में लगी है और जल्द ही इसका खुलासा भी किया जा सकता है।