Advertisements

गुंडों की ‘गश्त’: दर्जनों कारों में की तोड़फोड़, पुलिस को भनक तक नहीं लगी

भोपाल। रात में पुलिस किस तरह गश्त करती है। इसका नमूना गुरुवार-शुक्रवार की रात में देखने को मिला। बाइकर्स गैंग ने तीन थाना क्षेत्रों में कई कारों में जमकर तोड़फोड़ की। गुंडे तलवार, डंडे लेकर करीब डेढ़ घंटे तक उपद्रव करते रहे। ताज्जुब की बात यह है कि तोड़फोड़ से जहां लोग दहशत में आ गए और पुलिस को सुबह तक घटना की भनक तक नहीं लगी। इस मामले से गुस्साए लोग सुबह कमला नगर थाना पहुंचे और घेराव कर दिया।

इस दौरान नवनिर्वाचित विधायक पीसी शर्मा भी प्रदर्शनकारियों के समर्थन में थाने पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया कि तोड़फोड़ करने वालो को भाजपा का संरक्षण मिला हुआ है।

गुरुवार-शुक्रवार की रात कमलानगर, टीटी नगर और श्यामला हिल्स इलाके में बदमाशों ने जमकर धमाल किया। रात करीब 2 बजे नेहरू नगर के कोपल स्कूल के पास 3-4 मोटरसाइकलों पर सवार होकर आधा दर्जन से अधिक बदमाश पहुंचे। डंडों और पत्थरों से वहां खड़ी कारों के कांच फोड़कर वे लोग आगे बढ़ गए। इसके बाद कोटरा सुल्तानाबाद, गीतांजलि कॉम्पलेक्स के पास, आम्बेडकर नगर, जवाहर चौक, सुनहरी बाग, श्यामला हिल्स इलाके में खुशबू पार्क के पास खड़ी कारों, गुमठियों में भी में तोड़फोड़ की गई।

इस दौरान करीब 30-35 कारों को निशाना बनाया गया। श्यामला हिल्स थाना में गुमठी मालिक उबेज खान,कार मालिक अरीब की शिकायत तो सुनी, लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।

उधर टीटी नगर थाने का दावा है कि उनके पास तोड़फोड़ की शिकायत नहीं मिली है। इस मामले में कमला नगर पुलिस ने कोटरा सुल्तानाबाद निवासी हरजीतसिंह की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ तोड़फोड़ का केस दर्ज किया है। थाना प्रभारी मदन मोहन मालवीय का कहना है कि अलग-अलग स्थानों पर करीब डेढ़ दर्जन वाहनों में तोड़फोड़ हुई है। घटना कुछ स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद तो हुई है। लेकिन फुटेज धुंधले हैं। इससे अपराधियों के चेहरे स्पष्ट नजर नहीं आ रहे हैं। पुलिस मुखबिरों से मिली जानकारी के आधार पर आरोपितों की पहचान करने में जुटी है।

इनका कहना है

अपराधियों के बारे में पुख्ता सुराग मिल गए हैं। शीघ्र ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। रात्रि गश्त में तैनात अधिकारियों-कर्मचारियों से भी इस मामले में चूक के बारे में जानकारी ली जाएगी।

-राहुल कुमार लोढ़ा, एसपी, साउथ

Loading...