100 दिन में बूथ से लेकर मंडलम, सेक्टर इकाईयों का होगा गठन-कमलनाथ

भोपाल। प्रदेश के नए मुख्यमंत्री बनने जा रहे कमलनाथ ने कहा है कि वे 100 दिन में ऐसा माहौल बनाएंगे कि जनता को लगेगा कि उनकी सरकार है। कांग्रेस संगठन और सत्ता के बीच समन्वय स्थापित करते हुए काम किया जाएगा। तीन महीने में संगठन को और मजबूत बनाएंगे।

सवाल: संगठन और सत्ता के बीच कैसे समन्वय स्थापित करेंगे?

कमलनाथ: हम संगठन और सत्ता के बीच समन्वय स्थापित करके काम करेंगे। तीन माह में संगठन को और मजबूत बनाएंगे। बूथ से लेकर मंडलम, सेक्टर इकाईयों का गठन करने पर और काम किया जाएगा।

कमलनाथ से बातचीत के मुख्य अंश

सवाल: नए मुख्यमंत्री के नाते आपकी पहली तीन प्राथमिकताएं क्या हैं?

कमलनाथ: पहली प्राथमिकता किसानों की कर्ज माफी है। दूसरी प्राथमिकता युवाओं को रोजगार देना और तीसरी प्राथमिकता महिलाओं को सुरक्षित माहौल देना।

सवाल: प्रदेश की वित्तीय स्थित पर क्या श्वेत पत्र लाने का विचार है?

कमलनाथ: प्रदेश सरकार का खजाना खाली पड़ा है। बड़ा कर्ज है। वित्तीय संकट की स्थिति है। शिवराज सरकार को हमने स्थिति स्पष्ट करने के लिए पत्र लिखा था और श्वेत पत्र जारी करने की मांग भी की थी। शीघ्र ही हम इस पर कोई निर्णय लेंगे।

सवाल: खाली खजाने से किसानों की कर्ज माफी कैसे हो पाएगी?

कमलनाथ: कर्ज माफी के लिए हम नई सोच से संसाधन जुटाएंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों की कर्ज माफी का जो वादा किया है, उसे पूरा किया जाएगा।

सवाल: वचन-पत्र में शामिल दूसरे महत्वपूर्ण मुद्दे ‘बेरोजगारों को रोजगार देने” की क्या कार्ययोजना है?

कमलनाथ: प्रदेश में जो भी उद्योगपति निवेश करेगा उसे प्रोत्साहित करेंगे। इसके एवज में शिक्षित युवा बेरोजगारों को रोजगार की गारंटी उससे ली जाएगी। उस निवेशक को भी प्रोत्साहित करने के लिए 25 फीसदी अनुदान देने के वचन को पूरा करेंगे।

सवाल: नए उद्योगों को लाने के लिए क्या रणनीति तय की गई है?

कमलनाथ: आज प्रदेश में जितने उद्योग लग नहीं रहे, उससे ज्यादा बंद हो रहे हैं या यहां से पलायन कर रहे हैं। भ्रष्टाचार और सरकार के प्रति अविश्वास के चलते यह स्थिति बनी है। हम ऐसा माहौल बनाएंगे, जिससे ज्यादा नए उद्योग स्थापित हों और निवेश व रोजगार के अवसर बढ़ें।

सवाल: मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद आपकी 100 दिन की कार्ययोजना क्या होगी?

कमलनाथ: जनता में 15 साल से निराशा का भाव था, जिसे दूर करेंगे। हम ऐसी कार्ययोजना तैयार करेंगे, जिससे अगले 100 दिन में प्रदेश की जनता को लगे कि नई सरकार उनकी अपनी सरकार है।

सवाल: शिवराज सरकार की लाड़ली लक्ष्मी, तीर्थ दर्शन और मेधावी छात्र योजना जैसी योजनाओं का आपकी सरकार में क्या भविष्य रहेगा?

कमलनाथ: हम पिछली सरकार की योजनाओं की समीक्षा करेंगे। उनका विस्तृत अध्ययन करेंगे, क्योंकि उनकी कई योजनाएं तो चुनावी वर्ष में सिर्फ जनता को गुमराह करने के लिए लाई गई थीं। जनता के नाम पर दूसरे लोगों ने लाभ उठाया और जमकर भ्रष्टाचार हुआ। योजनाओं की समीक्षा के बाद उनका भविष्य तय किया जाएगा।