कमल ही होंगे अब MP के “नाथ”, CM पद के लिये राहुल गांधी की भी “हाँ”

भोपाल। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के लिए कमलनाथ के नाम पर मुहर लगा दी है। कमलनाथ छिंदवाड़ा से 9 बार से सांसद रहे हैं, इसके साथ ही मप्र में चुनाव के दौरान सारा काम उन्होंने ही संभाल रखा था। बताया जा रहा है कि ज्यादातर विधायकों ने सीएम के लिए कमलनाथ का नाम चुना था। भोपाल में आज 6 बजे विधायक दल की बैठक होगी इसमें उनके नाम का औपचारिक एलान किया जाएगा। इसके बाद वे राज्यपाल के पास जाएंगे। राहुल गांधी के साथ हुई बैठक में एके एंटोनी, जितेंद्र सिंह भंवर, कमलनाथ और सिंधिया भी मौजूद थे।

इसके पहले मध्य प्रदेश में डिप्टी सीएम बनाने पर भी विचार किया जा रहा था, लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसे नकार दिया। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मुलाकात के लिए शाम 7 बजे का वक्त मांगने की बात भी सामने आ रही है।

कमलनाथ को कांग्रेस की जीत का सबसे बड़ा नायक हैं। मतदान के बाद से ही सबसे ज्यादा विश्वास में दिखे। कुशल प्रबंधक माने जाने वाले कमलनाथ ने अपने प्रबंधन से बिखरी हुई पार्टी को एक सूत्र में पिरोए रखा। हर फैसले में उनकी राय सर्वोपरि रही। कमलनाथ ने अपने जिले छिंदवाड़ा में सात में से छह सीट पर कांग्रेस को जीत दिलाई। टिकट वितरण में न सिर्फ अपना पूरा प्रभाव रखा, बल्कि सभी बड़े नेताओं को भरोसे में रखकर उनकी पसंद को भी तवज्जो दी। कमलनाथ के कसे हुए प्रबंधन ने कांग्रेस को मप्र में सबसे बड़ी पार्टी बनाया।