शिवराज बोले-ना हार में, ना जीत में, किंचित नहीं भयभीत मैं, कर्तव्य पर पर जो भी मिले, ये भी सही वो भी सही

भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रेसवार्ता कर अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है। शिवराज ने प्रदेश की जनता को धन्यवाद देते हुए जनमत का सम्मान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि मप्र में यह दूसरी बार है जब प्रदेश में किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है।

प्रदेश में भाजपा को सबसे ज्यादा वोट प्रतिशत मिला, लेकिन संख्या बल में वह पीछे रही। सीएम ने कहा हम संख्या बल का सम्मान करते हैं। इसके बाद से राज्यपाल के पास इस्तीफा देने पहुंचे। अब यह साफ हो चुका है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है।

राजभवन से बाहर आने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब मैं मुक्त हूं, मैंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौप दिया है। हार की जिम्मेदारी सिर्फ मेरी है, भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर काम किया है। उन्होंने कहा कि जनता का साथ मिला और वोट भी जमकर मिले। मैंने कमलनाथ को जीत की बधाई दी है। इस दौरान उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की कविता की पंक्तियां कही- ना हार में, ना जीत में, किंचित नहीं भयभीत मैं, कर्तव्य पर पर जो भी मिले, ये भी सही वो भी सही।