CEO कांताराव की PC:डाक मत और ईवीएम की गिनती साथ-साथ होगी, 22 राउंड में होगी मतगणना

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए मतगणना मंगलवार सुबह 8 बजे से शुरू होगी। डाक मत पत्रों और ईवीएम की गिनती एक साथ होगी। सभी जगह औसतन 22 राउंड में मतगणना की जाएगी। ये बात मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने कही। कांताराव ने पूरे प्रदेश में होने वाली मतगणना को लेकर मीडिया से चर्चा की।

कांताराव ने बताया कि मतगणना का काम सुबह 8 बजे से शुरू हो जाएगा। एक तरफ डाक मतपत्र की गणना शुरू हो जाएगी। ठीक उसी समय सभी जिलों में मतगणना स्थल पर स्ट्रांग रुम खुलेगा और ईवीएम काउंटिंग काउंटर पर पहुंचने के बाद उसकी भी गणना शुरू हो जाएगी। यानि डाक मत पत्र ईवीएम की गणना एक साथ चलेगी। पूर्व में डाक मत पत्रों की गणना पूरी होने के बाद ही ईवीएम से काउंटिंग शुरू होती थी। उन्होंने बताया कि ईवीएम के अंतिम राउंड की गणना तब तक नहीं होगी जब तक डाक मत पत्रों की गणना का काम पूरा नहीं हो जाता।

कांताराव ने ये भी बताया कि हर प्रत्याशी को हर राउंड की गणना के बाद टेबुलेशन की फोटो कॉपी दी जाएगी। हर राउंड में दो ईवीएम की जांच स्वयं पर्यवेक्षक करेंगे ताकि काउंटिंग की निष्पक्षता पर किसी को संदेह नहीं रहे। उन्होंने बताया कि हर विधानसभा के लिए चुनाव आयोग ने पर्यवेक्षक तैनात किए हैं। मतगणना कार्य के लिए 3220 टेबल लगाई गई है जबकि 15 हजार कर्मचारी मतगणना का काम करेंगे।

डाक मत पत्रों की गिनती का काम एआरओ की टेबल पर होगा इसके लिए दो-दो एआरओ तैनात किए गए हैं। मतगणना केंद्रों की वेबकास्टिंग नहीं होगी। लेकिन गणना स्थल पर पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और उन्हीं की निगरानी में मतगणना होगी।

निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक पूरे प्रदेश में अनूपपुर जिले के कोतमा विधानसभा में सबसे कम 15 राउंड में मतगणना हो जाएगी। वहीं इंदौर विधानसभा क्षेत्र 5 में सबसे अधिक 32 राउंड में मतगणना होगी। निर्वाचन आयोग ने बताया कि मतगणना की गोपनीयता और निष्पक्षता बनीं रहे, इसलिए मंगलवार सुबह 6 बजे ही ये तय होगा कि किस कर्मचारी की ड्यूटी कहां लगेगी।