प्रदेश में अब किसी भी उम्र में दे सकते हैं 5वीं और 8वीं की परीक्षा

जबलपुर। केंद्र सरकार ने शिक्षा का अधिकार (आरटीई) अधिनियम में संशोधन कर दिया है। जिसके तहत मप्र में ओपन स्कूल से अब किसी भी उम्र में 5वीं-8वीं की बोर्ड परीक्षा दी जा सकती है। इसके लिए मप्र राज्य ओपन स्कूल परीक्षा लेकर सर्टिफिकेट जारी करेगा। परीक्षा अगले सत्र (2019-20) से होगी। आरटीई की धारा-30 के अनुसार किसी भी बच्चे को आठवीं कक्षा तक फेल नहीं किया जा सकता है, लेकिन अब इसमें संशोधन किया है। संशोधन के बाद परीक्षा को लेकर राज्य ओपन स्कूल ने तैयारियां पूरी कर ली है। पांचवी व आठवीं की परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाएगी। पहली परीक्षा जून में और दूसरी परीक्षा दिसंबर में होगी। इसमें पांचवीं के लिए 11 वर्ष से अधिक उम्र वाले अभ्यर्थी परीक्षा दे सकते हैं। वहीं, आठवीं के लिए 14 वर्ष से अधिक उम्र वाले परीक्षा में बैठ सकते हैं। ऐसी कई निम्न वर्ग की नौकरियां हैं। जिनमें 8वीं तक की शैक्षणिक योग्यता के प्रमाणपत्र की आवश्यकता होती है। उनके लिए ओपन स्कूल से आठवीं का बोर्ड परीक्षा पास करना फायदेमंद होगा। साथ ही कई अभ्यर्थी नौकरी करने के कारण पढ़ाई पूरी नहीं कर पाते हैं। वे भी अब परीक्षा दे सकते हैं।