गंदा है पर धंधा है ये…..

शहर के पॉश इलाकों से लेकर बस्तियों तक में संचालित हो रहे सैक्स रैकेट
आए दिन सामने आती हैं खबरें
जबलपुर, मुनप्र। गुरूवार की रात कोतवाली थाना क्षेत्र के गोपाल बिहार अपार्टमेंट में एक फ्लैट में चल रहे सैक्स रैकेट की सूचना किसी ने फोन पर सीएसपी दीपक मिश्रा और थाना प्रभारी राजेश मालवीय को देते हुए बताया कि वह गोपाल सदन महेश बारात घर के पास गोपाल बिहार अपार्टमेंट से बोल रहा है और उसके बाजू वाले फ्लैट से किसी युवती की चीखें सुनाई दे रही हैं। यह सूचना लगते ही सीएसपी मिश्रा थाना प्रभारी और मदन महल टीआई वहां पहुंचे। पुलिस के पहुंचते ही आवाजें बंद हो गई। करीब 10 मिनट तक आवाजें लगाने के बाद दरवाजा खुला तो एक महिला ने ड्रामेबाजी करते हुए पुलिस से विवाद करना शुरू कर दिया लेकिन टीआई प्रीति जैन ने महिला को पुलिसिया अंदाज में किनारे कर दिया और जब फ्लैट की तलाशी ली गई तो वहां एक युवती जिसकी हाथ की नसें कटी हुई थी उसका मुंह दबाकर कपिल चौकसे नाम का बदमाश बैठा हुआ था। जबकि अंदर वाले कमरे में दो युवक और एक युवती आपत्तिजनक हालत में छिपे हुए थे। जिसके बाद पता चला कि फ्लैट में लम्बे समय से देह व्यापार का अड्डा संचालित हो रहा था। पुलिस ने कपिल के चंगुल से युवती को छुड़ाया तो पता चला कि युवती भी सैक्स वर्कर है लेकिन वो बीमार थी इसलिए उसने कपिल की बातें नहीं मानी और उसे रैकेट संचालित करने वाली महिला और कपिल ने बुरी तरह से पीटा जिसके कारण वह हाथ मे ंब्लैड मारकर चिल्ला रही थी। पुलिस की कार्यवाही को देख बड़ी संख्या में अपार्टमेंट के साथ कालोनी के काफी लोग भी एकत्रित हो गए थे। जिन्होंने पुलिस को कई मोबाइल रिकार्डिंग और फुटेज दिए। जिससे पता चला है कि फ्लैट में सुबह से देर रात तक देह व्यापार का गोरखधंधा चल रहा है। मोहल्ले वालों से मिले वीडियोज् और तस्वीरों से पुलिस को यह पता चला है कि सैक्स रैकेट के इस धंधे में शहर के नामीगिरामी नेता व्यापारी और कुख्यात बदमाश अपनी हवस मिटाने पहुंचते थे। इस सैक्स रैकैट के भंडा फूटने से यह साबित होता है कि शहर की पॉश कालोनियों से लेकर बस्ती इलाकों तक में यह गंदा काम धड़ल्ले से चल रहा है और कई अड्डे आबाद हैं जहां इस तरह की गतिविधियां संचालित हो रही हैं जो संस्कारधानी के संस्कारों के विपरीत है। विजयनगर जीरो डिग्री, नब्बे क्वार्टर, नगर निगम के सामने स्थित नेहरू उद्यान, गढ़ा क्षेत्र, मदनमहल, गुप्तेश्वर और बस्ती इलाकों में भी सैक्स रैकैट के अड्डे संचालित हो रहे हैं। उपनगरीय क्षेत्रों में भी कई ऐसे अड्डे आबाद हैं जहां यह गंदा धंधा धड़ल्ले से चल रहा है। सैक्स रैकेट संचालित करने वाले ऐसे ठिकानों को चुनते हैं जो पुलिस की नजरों से न केवल बच सकें बल्कि पुलिस को यह शक तक न हो कि ऐसे इलाकों में भी ऐसा काम हो सकता है। किसी जमाने में जिस तरह ब्लू फिल्म और पीला साहित्य का बोलबाला रहता था कुछ इसी तरह अब शहर में सैक्स रैकेट से जुड़े मामले सामने आने लगे हैं।
सिविक सेंटर नेहरू गार्डन खास ठिकाने
शहर के सिविक सेंटर क्षेत्र और नगर निगम के सामने स्थित नेहरू गार्डन ऐसे इलाके हैं जहां देह व्यापार से जुड़ी युवतियां बड़ी संख्या में घूमती पाई जाती हैं और कस्टमर सैट होते ही उसके साथ वाहन में बैठकर चलते बनती हैं। पूर्व में कुछ मामले इस तरह के भी प्रकाश में आए हैं। शहर में जिस तरह से देह व्यापार का धंधा फल फूल रहा है वह संस्कारधानीवासियों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है।