Advertisements

#Poll of Polls 2018- जानिये सभी एग्जिट पोल के नतीजे एक साथ

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी एग्जिट पोल जारी हो गए हैं। एबीपी और लोकनिति-सीडीसीएस के एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश के चंबल की 34 सीटों में 36 प्रतिशत वोट भाजपा के खाते में गए, कांग्रेस को 43 प्रतिशत वोट मिल रहे हैं। भाजपा को यहां 10 सीटें मिल सकती है, काग्रेस को 21 सीटें मिल सकती है और अन्य को तीन सीट मिल सकती हैं।

एबीपी के अनुसार विध्य की 56 सीटों में से भाजपा को 20 सीट, कांग्रेस को 33 सीट और अन्य को 3 सीट मिल सकती हैं। महाकोशल की 49 सीटों में से 39 प्रतिशत वोट भाजपा को, 41 प्रतिशत वोट कांग्रेस को और अन्य को 19 प्रतिशत वोट अन्य को मिल सकते हैं। यहां 21 सीटों पर भाजपा, 26 पर कांग्रेस और अन्य को 2 सीट पर जीत मिल सकती हैं।

मालवा की 63 सीटों में 46 प्रतिशत वोट भाजपा को, 45 प्रतिशत कांग्रेस और अन्य को 9 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। यहां 33 सीट भाजपा को, 29 सीट कांग्रेस को और एक सीट अन्य के खाते में जा सकती है। एबीपी के सर्वे के मुताबिक मप्र में 230 सीटों में से भाजपा को 126, कांग्रेस को 94 और अन्य को दस सीट पर जीत मिल सकती है।

इंडिया न्यूज- नेता के अनुसार मध्य प्रदेश में भाजपा को 106 सीट मिल सकती हैं। कांग्रेस को यहां 112 सीट मिल सकती हैं वहीं अन्य 12 सीट मिल सकती हैं।

रिपब्लिक – सी वोटर के अनुसार भाजपा को 90 से 106 सीट मिल सकती हैं, कांग्रेस को 110 से 126 सीट और अन्य को 6 से 12 सीट मिल सकती हैं।

इंडिया टुडे– एक्सिस माय इंडिया के सर्वे के अनुसार मप्र में कांग्रेस को 41 प्रतिशत और भाजपा को 40 प्रतिशत सीट मिलने की संभावना है। कांग्रेस को 104 से 122 सीट तो भाजपा को 102 से 120 मिल सकती हैं। अन्य को 4 से 11 सीट मिल सकती हैं।

टाइम्स नाउ– सीएनएक्स के मुताबिक मप्र में भाजपा को 126 सीट और कांग्रेस को 89 सीट मिल सकती हैं, अन्य को 9 सीट मिल सकती हैं।।

रिपब्लिक– जन की बात एग्जिट पोल में भाजपा को 108 से 128 सीट मिलने की बात बता रहा है, कांग्रेस को यहां 95 से 115 सीट मिल सकती हैं। वहीं अन्य के खाते में सात सीट जा सकती हैं।

जी न्यूज एग्जिट पोल के मुताबिक भाजपा 112 और कांग्रेस को 109 सीट मिल सकती हैं।

न्यूज 24 एग्जिट पोल के मुताबिक भाजपा को 98 से 108 सीट पर जीत मिल सकती है। कांग्रेस को 110 से 120 सीट और अन्य को 10 से 14 सीट पर जीत मिल सकती है।

इंडिया न्यूज के अनुसार चंबल में भाजपा को 15, कांग्रेस को 16, बीएसपी को दो और अन्य को एक सीट मिल सकती है। मालवा-निमाड़ में भाजपा को 44, कांग्रेस को 25, अन्य को 3 सीटें मिल सकती हैं। बघेलखंड में भाजपा को 25, कांग्रेस को 21 और बसपा को 4 सीट और अन्य को 2 सीट मिल सकती है। इंडिया टीवी फाइनल में भाजपा 122 से 130 सीट, कांग्रेस 86 से 92 सीट और बसपा 4 से 8 सीट और अन्य 8 से 10 सीट मिल सकती हैं।

न्यूज नेशन के अनुसार भाजपा को 108 से 112 सीट, कांग्रेस को 105 से 109 सीट और अन्य को 11 से 15 सीट मिल सकती हैं।

मप्र में 230 सीटों के लिए 28 नवंबर को चुनाव हुआ। कुल 2907 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे थे। मतदान के लिए प्रदेशभर में 65,341मतदान केंद्र बनाए गए थे। इनमें से 11,900 मतदान केंद्रों पर 650 केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल के जवानों को तैनात किया गया था। छिटपुट घटनाओं के बीच 75 फीसदी मतदाताओं ने मतदान किया। यह 2013 में हुए 72.66 फीसदी मतदान के मुकाबले 2.34 फीसदी ज्यादा रहा। अनूपपुर विधानसभा के मौहरी मतदान केंद्र पर 56 वोट ईवीएम में दर्ज नहीं होने की वजह से 1 दिसंबर को फिर से मतदान हुआ।

प्रमुख प्रत्याशी मैदान में

मप्र विधानसभा चुनाव बुदनी सीट पर सीएम शिवराज सिंह चौहान और पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव के बीच है। दमोह में मंत्री जयंत मलैया को भाजपा के बागी और पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया टक्कर दे रहे हैं। होशंगाबाद में विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा और भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए सरताज सिंह के बीच मुकाबला है। विजयराघवगढ़ से संजय पाठक, पद्मा शुक्ला, गोविंदपुरा सीट से कृष्णा गौर, सांची से मुदित शेजवार, महू से उषा ठाकुर और अंतर सिंह दरबार प्रमुख चेहरे हैं, जिनके नतीजों पर सभी की निगाहें रहेगी।

2013 चुनाव की स्थिति

मप्र में 2013 में हुए चुनाव में भाजपा ने 165 सीटों पर जीत दर्ज की तो कांग्रेस को 58 सीटों पर विजय प्राप्त हुई। 5 सीटों पर बहुजन समाज पार्टी और 2 पर निर्दलीयों ने कब्जा जमाया। भाजपा विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री पद के लिए शिवराज सिंह चौहान का नाम तय हुआ और वे सीएम बने। वहीं विधानसभा में कांग्रेस की ओर से अजय सिंह(राहुल) विपक्ष के नेता रहे।

Loading...