आज शाम से आने वाले एग्जिट पोल पर सबकी निगाहें

जबलपुर यभाप्र। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया द्वारा एग्जिट पोल संचालन और इसके परिणाम के प्रकाशन एवं प्रचार अथवा किसी भी अन्य तरीके से उसका प्रसार करने पर 12 नवम्बर को लगाया गया प्रतिबंध आज सायं 5:30 बजे समाप्त हो रहा है। इसके तहत किसी भी इलेक्ट्रानिक मीडिया में किसी भी ओपीनियन पोल एवं अन्य किसी मतदान सर्वेक्षण के परिणामों सहित किसी भी प्रकार के निर्वाचन संबंधी मामले के प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा था जो शाम को हट जाएगा। आज शाम साढ़े पांच बजे से विभिन्न न्यूज चैनलों पर आने वाले एग्जिज पोल पर सबकी निगाहें लगी हैं। एग्जिट पोल की विश्वसनीयता कई बार झुठलाई भी जा चुकी है इसके बावजूद लोगों को सर्वे रिपोर्ट का इंतजार है। वैसे कई बार एग्जिट पोल के आंकड़े सच्चाई के नजदीक भी पहुंचे हैं। कांग्रेस नेताओं की मानें तो प्रदेश में अगली सरकार कांग्रेस की ही होगी। जिले के वरिष्ठï कांग्रेस नेताओं को प्रदेश में कांग्रेस की 120 से लेकर 132 सीटें तक आने की उम्मीद है। जिले में भी कांग्रेस 6 सीटों पर जीत का दावा कर रही। भाजपा नेता कांग्रेस के इन दावों को महज कोरी कल्पना बता रहे तथा भाजपा की कम से कम 150 सीट आने का दावा कर रहे। भाजपा जबलपुर संभाग की 38 सीटों में से कम से कम 30 सीटों पर जीत का दावा कर रही। बसपा, आप और सपा भी इस बार अपनी पूरी ताकत के साथ चुनाव मैदान में उतरी थी। उक्त तीनों पार्टियां प्रदेश में 15 से लेकर 25 सीटें तक आने का दावा कर रहींं। इसके अलावा दहाई की संख्या में निर्दलीय विधायक भी जीतकर आ सकते हैं। बसपा, सपा और आप नेताओं को भरोसा है कि इस बार कांग्रेस अथवा भाजपा में से किसी को भी स्पष्टï बहुमत नहीं मिलेगा। किसी भी पार्टी को स्पष्टï बहुमत नहीं मिलने के कारण सरकार के गठन में छोटे दलों और निर्दलीयों की अहम भूमिका होगी। गौरतलब है कि जिले में विधानसभा की कुल आठ सीटें हैं। 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में जिले की 2 सीटें कांग्रेस के कब्जे में गई थीं। राजनैतिक प्रेक्षक इस बार जिले में कांग्रेस और भाजपा को आधी आधी सीटें मिलने की संभावना व्यक्त कर रहे। राजनेताओं और राजनैतिक प्रेक्षकों के पूर्वानुमान और दावों के बीच अब सभी को चुनावी नतीजों की घोषणा का बेकरारी से इंतजार है। फिलहाल कल शाम साढ़े पांच पांच बजे के बाद आने वाले एग्जिट पोलों में आये रूझानों के बाद धड़कनें और बढ़ जाएंगी।