Advertisements

EVM केस में कांग्रेस को झटका, जबलपुर हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

जबलपुर। जबलपुर हाईकोर्ट ने EVM में गड़बड़ी को लेकर दायर कांग्रेस की याचिका खारिज कर दी है. हाईकोर्ट, EVM को लेकर सामने आयी शिकायतों पर निर्वाचन आयोग की कार्रवाई से संतुष्ट है. कोर्ट ने इस मामले में किसी भी तरह के हस्तक्षेप से इंकार किया है. कांग्रेस ने इस मामले की SIT जांच की मांग की थी.

हाईकोर्ट ने कहा मतदान के बाद सभी EVM स्ट्रॉन्ग रूम पहुंची हैं. स्ट्रॉन्ग रूम सील्ड और पुख़्ता सुरक्षा घेरे में हैं. कांग्रेस ने इस केस में भारत निर्वाचन आयोग सहित अन्य को पक्षकार बनाया था.

EVM में गड़बड़ी और सागर में देर से जमा कराने के मामले पर कांग्रेस ने जबलपुर हाईकोर्ट में याचिका लगायी थी. गुरुवार को कोर्ट ने इस पर सुनवाई पूरी कर ली थी.

मामला सागर ज़िले की खुरई विधानसभा सीट में EVM जमा कराने में देर हुई थी. ये क्षेत्र प्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह का निर्वाचन का है. यहां 48 EVM 48 घंटे बाद स्ट्रॉन्ग रूम में जमा की गयीं. ये वो मशीनें थीं जो रिजर्व में रखी गयी थीं. कांग्रेस ने इस पर गहरी आपत्ति जताते हुए EVM में गड़बड़ी की आशंका जताई थी. कांग्रेस इस मसले को जबलपुर हाईकोर्ट में ले गयी. यहां याचिका दायर कर उसने इस मामले की SIT से जांच कराने की मांग की थी।

गुरुवार को इस मसले पर कोर्ट में सुनवाई हुई थी. इसमें निर्वाचन आयोग ने अपना पक्ष रखा. आयोग ने कहा जो EVM लेट आयीं उनका मतदान में इस्तेमाल नहीं किया गया था. इस केस में सागर, सतना, भोपाल ,शाजापुर, खंडवा जिले के कलेक्टर को पक्षकार बनाया था।

कांग्रेस की याचिका पर हाईकोर्ट ने सुनवाई पूरी कर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. EVM देर से जमा करने के मसले पर कांग्रेस ने चुनाव आयोग में भी शिकायत की थी. उसके बाद आयोग ने मामले की जांच करायी और फिर खुऱई के रिटर्निंग ऑफिसर विकास सिंह को वहां से हटा दिया था।

Loading...