रेलवे बोर्ड ने अनुकम्पा नियुक्ति में किया बदलाव

एम्पलाइज यूनियन ने प्रमुखता से उठाई थी आवाज
जबलपुर नगर संवाददाता। रेलवे बोर्ड ने दयाधार अनुकम्पा नियुक्ति के नियमों में बड़ा बदलाव किया है इससे अब रेल कर्मचारियों के बच्चों को क्लेरिकल वर्ग में अनुकंपा नियुक्ति मिल सकेगी। इसका अधिकार मंडल रेल प्रबंधक को दे दिया गया है जो अभी तक महाप्रबंधक के पास था। इस निर्णय के संबंध में पश्चिम मध्य रेलवे एम्पलाइज यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव ने बताया कि आल इंडिया रेलवेमैन फेडरेशन एआईआरएफ द्वारा रेलवे बोर्ड के समक्ष इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया गया था जिसमें मांग की गई थी कि रेलकर्मचारी की मृत्यु के पश्चात एवं डयूटी के दौरान कर्मचारी के अनुपयुक्त हो जाने के दशा में उनके पुत्र को लिपिक वर्ग में अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान की जावे पूर्व में ऐसे प्रकरण महाप्रबंधक के अनुमोदन के पश्चात विशेष परिस्थितियों में ही निपटाये जाते थे एआईआरएफ की इस जायज मांग को रेलवे बोर्ड ने मंजूर करते हुए इस संबंध में सभी जोनल रेलवे को आदेश प्रसारित कर दिया है जिसमें ऐसे कर्मचारियों के बच्चों को अनुकम्पा नियुक्ति मंडल रेल प्रबंधक स्तर पर ही लिपिक संवर्ग में दी जा सकेगी इससे पड़े लिखे रेलकर्मचारियों के बच्चों को लाभ होगा।