मतगणना को लेकर तीन स्तरीय संरचना में सुरक्षा व्यवस्था

मतगणना को लेकर तीन स्तरीय संरचना में सुरक्षा व्यवस्था 11 को सुबह 8 बजे से एमएलबी स्कूल के 16 कक्षों में होगी गिनती
जबलपुर,यभाप्र। विधानसभा चुनाव की मतगणना को लेकर प्रशासन ने चाक-चौबंद व्यवस्था की हुई है। सुरक्षा इतनी सख्त है कि परिंदा भी पर न मार सके। कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज और पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने खुद ही कमरन संभाली हुई है। कलेक्टर लगातार मतगणना स्थल के भ्रमण कर रही हैं।
मतगणना के दिन मतगणना स्थल के आसपास तीन स्तरीय संरचना में सुरक्षा व्यवस्था की जायेगी तथा हर सुरक्षा घेरे में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को तैनात किया जायेगा । ताकि कोई भी अनाधिकृत व्यक्ति मतगणना स्थल पर प्रवेश न कर सके । अधिकृत व्यक्तियों को भी कड़ी सुरक्षा जांच और तलाशी के बाद ही मतगणना स्थल पर प्रवेश करने दिया जायेगा ।
उन्होंने बताया गया कि विधानसभा चुनाव की मतगणना 11 दिसंबर को सुबह 8 बजे से एमएलबी स्कूल के 16 कक्षों में होगी । प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना के लिए दो-दो कक्षों का इस्तेमाल किया जायेगा । हर दूसरे कक्ष के बाद एक कक्ष गणना परिणामों के कम्प्यूटराईज्ड और मैन्युअल टेबुलाइजेशन के लिए आरक्षित रहेगा । मतगणना की शुरूआत डाकमत पत्रों की गणना से होगी और उसके आधे घंटे के बाद ईव्हीएम के मतों की गणना प्रारंभ की जायेगी । डाकमत पत्रों की गणना के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में अलग से एक सहायक रिटर्निंग अधिकारी को नियुक्त किया गया है । डाकमत पत्रों की गणना रिटर्निंग अधिकारी वाले गणना कक्ष में अलग से लगाई गई टेबलों पर होगी ।

112 टेबिलों पर होगी काउंटिंग
कलेक्टर ने मंच लगाने, मीडिया के बैठने, एलईडी लगाने व अन्य तैयारियों की अधिकारियों से चर्चा कर निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि मतगणना के साथ ही जिले की आठों विधानसभा क्षेत्रों के विजयी उम्मीदवारों की घोषणा की जाएगी। 112 टेबिलों पर होगी काउंटिंग जिले की आठों विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में ईव्हीएम पर डाले गये मतों की गणना 112 टेबिलों पर की जायेगी। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के मुताबिक जिले के प्रत्येक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में डाले गये मतों की गणना के लिए 14-14 टेबिलों का उपयोग किया जायेगा।
पहले गिने जाएंगे डाक मत पत्र -मतगणना की शुरूआत डाक मतपत्रों की गणना से होगी लेकिन इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में डाले गए मतों की गणना शुरू करने के लिए डाक मत पत्रों की गणना खत्म होने का इंतजार नहीं किया जाएगा। निर्वाचन आयोग के निर्देशों के मुताबिक ईव्हीएम के मतों की गणना का काम डाकमत पत्रों की गणना शुरू होने के आधा घंटे बाद प्रारंभ किया जा सकेगा।