एमपी में वाट्सएप ग्रुप में प्रचार, आचार संहिता का पहला मामला दर्ज

जबलपुर. हाल ही में सम्पन्न हुए मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से चुनाव प्रचार करने पर आचार संहिता का पहला मामला जबलपुर संभाग के बालाघाट जिला में दर्ज किया गया है. इस मामले में वन विभाग के दो कर्मचारियों को निलंबित भी किया गया है.वाट्ससएप ग्रुप पर राजनैतिक पोस्ट कर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डीव्ही सिंह के निर्देशन पर दक्षिण उत्पादन वन मंडल के वनमंडलाधिकारी डॉ एए अंसारी ने दो कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. बताया जाता है कि वाट्सएप पर वन विभाग के वारासिवनी परिक्षेत्र के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का वारासिवनी रेंज आफिस नाम से एक ग्रुप बना हुआ है. इस ग्रुप में शामिल वनरक्षक दिनेश पानेकर एवं वन विभाग के स्थायी कर्मी संजय घोले द्वारा चुनाव प्रक्रिया के दौरान राजनैतिक एवं प्रत्याशी के फोटो एवं प्रचार सामग्री पोस्ट की थी.इसकी शिकायत जिला निर्वाचन कार्यालय में इन कर्मचारियों द्वारा पोस्ट की गई सामग्री के स्क्रीन शाट के साथ की गई थी. पूरे मामले की जांच में पाया गया कि इन कर्मचारियों द्वारा आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है. इस पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सिंह के निर्देश पर वन मंडलाधिकारी श्री अंसारी ने वन रक्षक दिनेश पानेकर एवं स्थायी कर्मी संजय घोले को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. निलंबन अवधि में वनरक्षक दिनेश पानेकर का मुख्यालय गर्रा डिपो में तथा संजय घोले का मुख्यालय कार्यालय दक्षिण उत्पादन वनमंडल बालाघाट नियत किया गया है.