आज शाम 5 बजे से थम जायेगा चुनावी शोर गुल

जबलपुर,यभाप्र। विधानसभा निर्वाचन का चुनावी शोर गुल मतदान समाप्ति के 48 घंटे पूर्व सोमवार शाम 5 बजे से थम जायेगा. इस अवधि के बाद चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार या राजनैतिक दल अपने चुनावी प्रचार के लिए न तो जुलूस एवं आम सभायें आयोजित कर सकेंगे और न ही लाउड स्पीकर का उपयोग कर सकेंगे. इन 48 घंटों के दौरान उम्मीदवार केवल घर-घर जाकर ही मतदाताओं से संपर्क कर सकेंगे। इन 48 घंटों के दौरान उम्मीदवार केवल घर-घर जाकर ही मतदाताओं से संपर्क कर सकेंगे। निर्वाचन आयोग ने चेतावनी दी है कि यदि प्रतिबंधों का उल्लंघन किसी भी व्यक्ति या प्रत्याशी द्वारा किया जाता है तो उसके विरुद्घ कार्रवाई की जाएगी और उसे दो वर्ष के कारावास या जुर्माने की अथवा दोनों की सजा से एक साथ दंडित किया जा सकेगा। चल चित्र.यंत्र टेलीविजन या अन्य इसी प्रकार के यंत्र या उपकरणों के माध्यम से भी निर्वाचन संबंधी मामले का जनसाधारण को प्रदर्शन इस दौरान प्रतिबंधित रहेगा। विधानसभा निर्वाचन कार्यक्रम के तहत 28 नवम्बर को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक जिले के सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में वोट डाले जायेंगे । मतदान समाप्त होने के 48 घंटे पहले चुनावी प्रचार बंद करने के आयोग के आदेश हैं । कलेक्टर ने बाहर से आये विभिन्न राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सोमवार शाम पांच बजे के बाद जिले की सीमा से बाहर चले जाने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने कहा है कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा इस संबंध में जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन कराया जायेगा। संबंधित अधिकारी व पुलिस प्रतिबंधित समय में होटल, लॉज, सामुदायिक भवन व धर्मशाला आदि पर नजर रखेंगे कि वहां कौन-कौन से व्यक्ति ठहरे हुए हैं। आयोग के यह भी निर्देश हैं कि जिले की सीमा पर बाहर से आने वाले वाहनों की सघन जांच की जाये ।
प्रचार थमने के साथ ही जिला पुलिस नगर की सीमाओं की नाकेबंदी कर दी जाएगी। बाहरी व्यक्तियों को बगैर किसी जायज कारण शहर में प्रवेश की इजाजत नहीं होगी। रात से ही पुलिस ने होटल, लॉज, धर्मशालाओं को चेकिंग शुरु कर दी है। बाहरी व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें जिले की सीमा से बाहर कर दिया जाएगा। पुलिस रात में उन लोगों के घरों पर दस्तक देगी, जिन पर चुनाव में माहौल बिगडऩे की आशंका है। जिला प्रशासन की मदद से इन लोगों को चिन्हित कर पहले से सूची तैयार कर ली है।चुनाव प्रचार के थमने के बाद कोई बाहरी व्यक्ति जिले की सीमा में नहीं रुक सकता है। और नहीं कोई बाहरी व्यक्ति बगैर किसी जायज कारण के जिले की सीमा में प्रवेश कर सकता है। बॉर्डर सील करने के लिए अर्द्धसैनिक बलों की हथियारों के साथ तैनाती की जाएगी। जिले की सीमा में प्रवेश करने से पहले से उन्हें जायज कारण बताना होगा। उम्मीदवारों को पहले से ही समझाइश दे दी गई है कि अगर कोई जिले की बाहर की सीमा का व्यक्ति चुनाव प्रचार करने के लिए आया तो उसे वापस भेज दें।
रात से होटल धर्मशालाओं की चेकिंग शुरु की- पुलिस ने आधी रात से शहर के होटल, लॉज, धर्मशालाओं की चेकिंग शुरु कर दी है। इनमें रूके लोगों से शहर में आने का कारण पूछा जा रहा है। शहर में रूकने का जायज कारण नहीं होने पर उन्हें समझाइश दी जा रही है कि वह सोमवार को 5 बजे से पहले जिले की सीमा से बाहर चले जाए। बाहरी व्यक्तियों के आईडी चेक किए जा रहे हैं।
अंग्रेजी शराब की दुकान, कलारी सील कर दी जाएगी- सोमवार की शाम 5 बजे चुनाव प्रचार थमने के साथ ही आबकारी विभाग की टीम अंग्रेजी शराब की दुकान, देसी कलारी व बार का रिकॉर्ड चेक कर सील कर देगी। अब लाइसेंसधारी शराब की बिक्री मतदान के बाद ही कर सकेंगें।