Advertisements

MP: भाजपा की तीसरी सूची में कृष्णा गौर, आकाश विजयवर्गीय और गुड्डू के बेटे अजीत बोरासी को टिकट

भोपाल| मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने तीसरी सूची जारी कर दी है| इस सूची का इन्तजार किया जा रहा था| गोविंदपुरा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की बहु कृष्णा गौर को आखिरकार पार्टी ने टिकट दे दिया है| इस सीट पर भारी घमासान था| कांग्रेस भी यहां दांव खेलना चाह रही थी| वहीं बाबूलाल गौर के तेवर भी तीखे हो गए थे| इस बीच पार्टी नेताओं ने गौर से बातचीत भी की| आज जारी हुई तीसरी सूची में गोविंदपुरा पर फैसला लिया गया है| अब गोविंदपुरा से बाबूलाल गौर की जगह उनकी बहु चुनाव लड़ेंगी।

दिवाली के दुसरे दिन जारी हुई बीजेपी की तीसरी सूची में 32 प्रत्याशियों का ऐलान किया गया है| जिसमे इंदौर की 9 सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा की गई है| कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र आकाश विजयवर्गीय इंदौर-3 से चुनाव लड़ेंगे| वहीं रमेश मेंदोला को भी टिकट मिला है| इसके अलावा ऊषा ठाकुर को महू से उतारा गया है| इंदौर 4 से मालिनी गौर को टिकट दिया गया है| लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के बेटे का नाम तीसरी लिस्ट में नहीं है| इसके अलावा तेंदूखेड़ा सीट पर कांग्रेस छोड़ भाजपा में आये मुलायम सिंह को बीजेपी ने प्रत्याशी बनाया गया है|

पहली सूची में मंत्री माया सिंह समेत 33 के टिकट काटे गए थे : भाजपा की पहली सूची में 3 मंत्रियों समेत 33 विधायकों के टिकट काटे गए थे। इनमें मंत्री माया सिंह, वन मंत्री रहे गौरीशंकर शेजवार की जगह उनके बेटे मुदित शेजवार को उम्मीदवार बनाया गया था। रामपुर बाघेलान से विधायक और मंत्री हर्ष सिंह की जगह बेटे विक्रम सिंह को उम्मीदवार बनाया गया है। इसके अलावा, भाजपा ने सांसदों को भी मैदान में उतारा है। पन्ना-खजुराहो सीट से सांसद नागेंद्र सिंह को नागौद से टिकट दिया गया है। अटलजी के भांजे मुरैना सांसद अनूप मिश्रा को भितरवार से मैदान में उतारा गया है। मिश्रा 2013 में यहां से चुनाव हार गए थे।

दूसरी सूची में 5 विधायकों के टिकट कटे थे :
दूसरी सूची में पांच मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिए गए। इनमें चंद्रशेखर देशमुख (मुलताई), जसवंत सिंह हाड़ा (शुजालपुर), मुकेश पंड्या (बड़नगर), पंडित सिंह धुर्वे (बिछिया) और वीर सिंह पंवार (कुरवाई) के नाम शामिल हैं। इसके अलावा सात विधायकों को पुन: टिकट दिया गया था।

राजपुर प्रत्याशी का हो चुका निधन : पूर्व मंत्री और भाजपा प्रत्याशी देवी सिंह पटेल का हार्ट अटैक से निधन हो गया है। उन्हें बड़वानी जिले की राजनगर क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है। यहां कांग्रेस से बाल बच्चन मैदान में हैं। पटेल एक बार राज्य कैबिनेट में मंत्रीपद का भी कार्यभार संभाल चुके हैं। पटेल बांदारकच्छ गांव के रहने वाले थे। वह उमा भारती सरकार में राज्य मंत्री भी रहे। 1984 से 2013 तक 7 बार विधानसभा चुनाव लड़ने वाले पटेल 4 बार विजयी रहे। जबकि तीन बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

5 सीटों पर नाम तय होना बाकी : पार्टी को अभी 5 सीटों पर नामों का ऐलान करना है। इंदौर की क्षेत्र क्रमांक एक से पांच, महू, राऊ, देपालपुर और सांवेर की सीट से प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। भोपाल की गोविंदपुरा सीट पर कृष्णा गौर को उम्मीदवार तय किया गया है। इस सीट से पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर 10 बार से विधायक हैं।

सुमित्रा-कैलाश की वजह से इंदौर की सीटें अटकीं थी : ऐसा कहा जा रहा है कि लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय अपने बेटों के टिकट के लिए अड़ गए थे। दोनों इंदौर की एक सीट चाहते थे। फैसला भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर छोड़ दिया गया था।

कांग्रेस की चौथी सूची हो चुकी जारी : दूसरी ओर कांग्रेस ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 230 विधानसभा सीटों में 211 पर उम्मीदवारों को मैदान में उतार दिया है। कांग्रेस की 19 सीटों पर प्रत्याशियों के चेहरे सामने आना बाकी है।

Loading...