अमृतसर हादसा: सिद्धू के पोस्टर पर लिखी अपशकुनी लाइन हो गई सच ‘नेकी पर बदी की जीत’!

Advertisements

अमृतसर। अमृतसर में शनिवार को दशहरा उत्सव के दौरान हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे में 60 लोगों की मौत हुई है। इनमें से 20 की तो अब तक पहचान भी नहीं हो पाई है। मरने वालों में किसी का बेटा था तो किसी का पति।

पोस्टर पर लिखी लाइन में चूक रही चर्चाओं में

किसी को इसका अंदाजा नहीं था कि दशहरा कार्यक्रम के पोस्टर पर लिखने में हुई चूक इस तरह सच साबित हो सकती है। पोस्टर पर लिखी लाइन ‘नेकी पर बदी की जीत’ दिनभर चर्चा में रही और शाम को हकीकत में बदल गई। काल बनकर आई अभागी ट्रेन ने बुराई पर अच्छाई की जीत का मंजर देखने आए दर्जनों लोगों को लील लिया। दरअसल शहर के जोड़ा फाटक पर दशहरे के अवसर पर पुतला दहन को लेकर स्थानीय दशहरा कमेटी ने एक पोस्टर जारी किया था।

 बड़े-बड़े होर्डिग्स पर लिखी थी लाइन 

पोस्टर को बड़े-बड़े होर्डिग्स पर लगाया गया था। इस पर सभी नेताओ के पोस्‍टर लगे थे सिद्धू और उनकी पत्नि के पोस्‍टर भी लगे थे लेकिन किसी ने इस ओर ध्‍यान नहीं दिया। जिस पर  गलती से ‘बदी पर नेकी की जीत’ की जगह ‘ नेकी पर बदी की जीत’ लिखा गया था। दिनभर सोशल मीडिया पर चर्चा में रहने वाले इस पोस्टर पर सूबे के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी डॉक्टर नवजोत कौर सिद्धू की फोटो भी लगी हुई थी। नवजोत कौर सिद्धू इस कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शामिल भी थीं।

Advertisements