पुलिस की कार्य प्रणाली से हड़कंप की स्थिति

Advertisements

जबलपुरएनगर प्रतिनिधि । आचार संहिता के कारण पुलिस प्रशासन द्वारा जबरन दहशत का माहौल बनाया जा रहा है जिससे हड़कंप की स्थिति है। सूत्रों के अनुसार कुछ क्षेत्रों में अगर समिति के सदस्य ज्यादा हो जाते हैं और दुर्गा पंडालों की साज.सज्जा चंदा तथा पूजन आरती के संबंधित कार्यों को लेकर कार्य करते हैं तो उन्हें शंका की नजऱों से देखते हुए पुलिस द्वारा रात को आधी रात बाद उठा लिया जाता है तथा कुछ जगहों पर ऐसी स्थितियां निर्मित हो गई है जहां उन्हें जुआरी भी घोषित किया जा रहा है।

सभी दुर्गा पंडाल एक जैसे नहीं
एक पंडाल में जुआ क्या पकड़ा सभी पंडालों पर पुलिस की नजर पडऩे लगी। कुछ जगहों पर पुलिस द्वारा दबिश दी गई थी जिसमें कि 50 से 70000 कैश बरामद किया गया था परंतु जुआ खेलते एवं वहां पर मौजूद लोगों की जतकर पिटाई की गई। कुछ नाबालिगों को भी पुलिस द्वारा पकड़ा जाता है

जुआ अड्डे में क्यों नहीं हो रही है कार्रवाई
शहर में ऐसा नहीं है कि से 9 दिन ही जुआ चलता है कुछ अड्डों में पिछले कई वर्षों से जुआ चलता आ रहा है परंतु क्या पुलिस प्रशासन और अड्डों में घुसकर रेड मार सकती है या फिर इन्हीं कुछ पंडालों में चंद कार्यवाही करके अपनी अपनी पीठ थपथपा सकती है। घमापुर पुलिस द्वारा पिछले दिनों दुर्गा पंडाल से 10 जुआरियों की गिरफ्तारी की गई ए तथा 2 दिन पूर्व लार्डगंज थाने द्वारा भी कुछ जुआरिओं की गिरफ्तारी की गई थीए पर क्या चंद दिनों की कार्रवाही कहां तक सही है।
पर अब तक कोई टीआई नहीं हुआ सस्पेंड
ज्ञात हो कि पुलिस अधीक्षक द्वारा एक आदेश दिया गया था कि जिस थाना अंतर्गत जुआ चलेगा पहुंची थाना प्रभारी का निष्कासन तय रहेगा परंतु जुआ अड्डों में धड़ल्ले से जुआ जारी है तथा आज तक किसी भी थाना प्रभारी का निलंबन नहीं किया गया।

Advertisements