Advertisements

ट्विटर पर शुरू हुई अनोखी जंग, आमने-सामने हैं अंग्रेजी बनाम संस्कृत

नई दिल्ली। ट्विटर पर कब क्या ट्रेंड चल जाए, कोई कह नहीं सकता। इन दिनों इस माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर लंबे शब्दों की चर्चा है। चर्चा की शुरुआत कांग्रेस नेता शशि थरूर के एक ट्वीट से हुई थी। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से ट्वीट किए गए एक श्लोक ने इस चर्चा को अंग्रेजी बनाम संस्कृत में बदल दिया।

शशि थरूर हमेशा से अपनी क्लिष्ट अंग्रेजी के लिए जाने जाते रहे हैं। ट्विटर जगत में उनके कठिन शब्दों पर अक्सर चर्चा होती रहती है। हाल में अपनी आने वाली किताब “द पैराडॉक्सिकल प्रेसिडेंट” के प्रमोशन के लिए उन्होंने कई ट्वीट किए।

ऐसे ही एक ट्वीट में थरूर ने अंग्रेजी के शब्द फ्लोक्सिनॉसिनिहिलिपिलिफिकेशन शब्द का इस्तेमाल किया। इस शब्द का मतलब होता है – किसी भी बात पर आलोचना करने की आदत, चाहे वो गलत हो या सही। इस शब्द को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ यूजर मजाक भी बना रहे हैं।

यूजर्स ने पूछा, “क्या किताब के साथ डिक्शनरी मुफ्त में मिलेगी?”थरूर के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक ट्वीट ने चर्चा को नया रूप दे दिया है।

नवरात्र के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी हर दिन संस्कृत में कोई श्लोक ट्वीट करते हैं। 11 अक्टूबर को मोदी ने ट्वीट किया, “दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू। देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा।”

इस श्लोक का अर्थ है- “आप अपने करकमलों में माला (दाहिने) और कमंडल (बाएं) धारण करती हैं। हे ब्रह्मचारिणी देवी, आपसे उत्तम और श्रेष्ठ और कुछ नहीं हो सकता। प्रसन्न होकर आप हम सब पर कृपा करें।” इस श्लोक में “करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू” शब्द को लेकर ट्विटर पर चर्चा छिड़ी है।

कई यूजर दोनों शब्दों को लेकर आपस में तुलना भी करने लगे हैं। कुछ यूजर इसे अंग्रेजी बनाम संस्कृत की चर्चा भी मान रहे हैं। बहरहाल इसे जो भी कहा जाए, लेकिन ट्विटर यूजर्स के लिए यह मनोरंजन का विषय जरूर बन गया है।

Loading...