Advertisements

नजरिया : #Me too अभियान पर स्मृति ईरानी और अमित शाह की विचारधारा अलग

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर #MeToo कैंपेन के तहत लगाए गए यौन शोषण के आरोपों पर पहली बार प्रतिक्रिया दी है। शाह ने कहा है कि यह देखना पड़ेगा कि ये (आरोप) सही हैं या गलत।

#MeToo: एमजे अकबर पर बोले अमित शाह – देखना पड़ेगा ये सच है या गलत

https://www.yashbharat.com/archives/30859

#Me too : स्मृति ईरानी बोलीं- महिलाओं को घबराने की जरूरत नहीं, बेखौफ शिकायत करें

इंदौर : केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने राजमाता विजयाराजे सिंधिया जन्मशताब्दी समारोह के दौरान कहा कि हमेशा बेटियों को ही संस्कारी बनाने की बात होती है। जरूरत बेटों को भी संस्कार देने की है। कामकाजी महिलाओं से अकसर पूछा जाता है कि वे घर-परिवार के लिए समय कैसे निकालती हैं। यह सवाल तो पुरुषों से होना चाहिए। कोई
महिला संस्कार घर पर छोड़ काम नहीं करती।

महिला में ही यह खूबी है कि वह 24 घंटे हर भूमिका में होती है। राजमाता सिंधिया एक तरफ जहां करुणा की प्रतिमूर्ति हैं तो दूसरी तरफ वे शूरवीर महिला का उदाहरण भी हैं। उन्होंने लोकतंत्र के लिए राजपरिवार की सुविधाएं त्याग दीं, लेकिन हार नहीं मानी। बेखौफ होकर करें शिकायत मी टू कैंपेन को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है। महिलाओं को कानून कई सुविधा देता है। महिलाओं को घबराने की कोऊ जरूरत नहीं है। किसी भी महिला को दिक्कत है तो वह बेखौफ होकर शिकायत दर्ज करवा सकती है।

Loading...