हत्थे चढ़ा तो कर दूंगा हत्या

रादुविवि छात्रावास संघ वाह एबीवीपी के मध्य झगड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है जिसमें पुलिस प्रशासन मूकदर्शक बनकर बैठा हुआ है और दोनों छात्र संघों में एबीवीपी के एक कार्यकर्ता द्वारा दूसरे छात्र संघ के अध्यक्ष को जान से मारने की बात की जा रही है जिस से संबंधित एक ऑडियो वायरल हुआ है

बातचीत के कुछ अंश
1ण् एबीवीपी नेता
हेलो जो भी किया था तुम लोग ने सही नहीं किया
छात्रावास नेता
अब बोल कौन रहे हो नाम तो बताइए

एबीवीपी नेता
गौरव बोल रहा हूं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से
छात्रावास नेता
भैया गलती वहां से हुई है उनके द्वारा हमारे लड़के पर भीड़ में पानी डाला गया

एबीवीपी नेता
यार भीड़ में तो पानी धोखे से भी जा सकता है इसको इतना बड़ा मुद्दा नहीं बनाना था तुम मुझे अभी जानते नहीं
छात्रावास नेता
मैं आपको बहुत अच्छे से जानता हूं अपन मिलकर बात करेंगे
एबीवीपी नेता
तुम इतने बड़े नहीं हो गए कि तुम मुझसे मिलकर बात करोगे उस लड़के को मारा क्यों हिसाब से रहो वरना फोड़ डालेंगे

छात्रावास नेता
आप सीनियर से बात कर लो मैं उन्हीं से बात करूंगा
उन्हें दूसरी बार दोनों छात्र नेता आपस में फिर बात करते हुए एक दूसरे को धमकी देते नजर आए जिसमें की ऑडियो में अपने आप को एबीवीपी का नेता बताने वाला छात्र छात्रावास संघ के नेता यह धमकी देता सुनाई दे रहा रहा है कि
ष्जिस दिन हत्थे चढ़ गया उस दिन तुम्हारी हत्या कर देंगेष्ष्

जैसा की विदित है पूर्व में ही यश भारत ने रदुविवी में इस प्रकार की अनहोनी होने की आशंका जताई थी परंतु प्रशासन और शासन द्वारा इस प्रकार की घटना को गंभीरता पूर्वक नहीं लिया जा रहा है जिस प्रकार से छात्र नेता एक.दूसरे को जान से मारने की बात कर रहे हैं वह अत्यंत निंदनीय है

क्या था घटनाक्रम
क्या है पूरा घटनाक्रम
15सितंबर
15 सितंबर को हॉस्पिटल से संबंधित छात्र जो की एबीवीपी के संपर्क में आने से हॉस्टल छोड़ चुका था और जब मैं बड़े जी देखने हॉस्टल पहुंचे तो फल स्वरुप हॉस्टल छात्रों द्वारा उसकी पिटाई वेल्टो से की गई

22सितंबर
जब यह छात्र अपने लॉ सेक्शन के मित्र गौरव के साथ कॉलेज पहुंचा तो हॉस्पिटल इन छात्रों के मध्य तू तू मैं मैं हो गई

27सितंबर
27 सितंबर को लॉ सेक्शन में पढ़ने वाला गौरव फार्मेसी सेक्शन के पास घूम रहा था तो वहां उसका सामना हॉस्टल के छात्रों से हो गया और विवाद इतना बढ़ गया कि मामला थाने पहुंच गया दोनों पक्षों द्वारा एक दूसरे पर मामले दर्ज करवाएं

28सितंबर
28 सितंबर को एबीवीपी ने विश्वविद्यालय को बंद करो कुलपति को ज्ञापन सौंपा और कार्यवाही करने की मांग की

1अक्टूबर
छेनप वहां छात्रावास संघ द्वारा पुनः इस संदर्भ में ज्ञापन सौंपा गया व आरोप लगाए गए कि एबीवीपी द्वारा लगातार अपनी सरकार होने के चलते गुंडागर्दी जी की जा रही है ।
इनके ज्ञापन देने के बाद एबीवीपी पुनः ज्ञापन देने पहुंच गई

थाना प्रभारी भटकाते है
सूत्रों के अनुसार कुछ दोनों पक्षों की छात्र नेताओं का यह दावा है कि सिविल लाइन के थाना प्रभारी द्वारा इसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है उल्टा है यह कहते हैं कि तुम लोग छात्रावास में घुस जाओ बाकी हम देख लें