विवाद के बाद सीएम योगी का ”ताज दीदार”

Advertisements

आगरा। ताज महल पर हुई बयानबाजी के बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को इसी ताज के दीदार के लिए पहुंचे। सीएम योगी यहां काफी देर रूके और संगमरमर की इस इमारत को देखा। उनके साथ कई अधिकारी भी थे।

इससे पहले उन्होंने ताज परिसर में झाड़ू लगाकर स्वच्छता अभियान में हिस्सा लिया। पहुंचे। आगरा पहुंचने के बाद बाद सीएम योगी ने 281 करोड़ की योजना से बनने वाले रबर चैक डेम का शिलान्यास किया।

चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले मुख्यमंत्री की यह यात्रा कई मायने में महत्वपूर्ण है। वह ऐसे समय आगरा दौरे पर हैं जब उनकी ही पार्टी के सांसद और विधायक ने ताज को लेकर आक्रामक बयान देकर माहौल गरमा दिया। योगी इसके ठीक विपरीत विकास के एजेंडे को लेकर प्रतिबद्ध दिख रहे हैं। जाहिर है, उनकी यह यात्रा नई सियासी जमीन बनाएगी।

हाल ही में आगरा के ताजमहल को भाजपा विधायक संगीत सोम ने मुगल शासक द्वारा बनाये जाने और सांसद विनय कटियार ने इसे शिव मंदिर तेजोमहल बताकर दावा किया कि इसे शाहजहां ने तोड़कर अपनी बेगम का मकबरा बना दिया। इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया हुई। सपा महासचिव आजम खान ने इस पर सरकार को सवालों से घेर दिया, लेकिन योगी ने सोम के बयान से पल्ला झाड़ते हुए संतुलित बयान दिया। कहा, इसके निर्माण में भारतीय शिल्पकारों का खून-पसीना लगा है।

इसे भी पढ़ें-  CBSE Class 12 compartment 2021: परीक्षा रद्द करने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कंपार्टमेंट व प्राइवेट छात्र

उन्होंने ताजमहल को पर्यटन की दृष्टि से महत्व देकर आगरा के विकास को प्राथमिकता दी। सरकार ने 2018 के कैलेंडर में भी ताजमहल का चित्र लगाया है। एक तरफ योगी ने मथुरा, काशी, अयोध्या और चित्रकूट के दौरे से हिदुत्व के एजेंडे को धार दी वहीं उन्होंने प्रयागराज के अर्द्धकुंभ को कुंभ और कुंभ को महाकुंभ का नाम देकर यह साफ कर दिया है कि हिदू आस्था से जुड़े तीर्थ स्थलों और कार्यक्रमों को सरकार बढ़ावा देगी। योगी बनारस में देव दीपावली भी मनाएंगे। वहीं आगरा की यात्रा से योगी यह भी संदेश देंगे कि वह सबका साथ-सबका विकास के हिमायती हैं।

इसे भी पढ़ें-  Covaxin को मिल सकती है DGCI की मंजूरी, थर्ड फेज ट्रायल में 77.8 फीसदी तक प्रभावी रहा टीका

आज पहली बार ताज का दीदार करेंगे योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को ताजमहल का दीदार करेंगे। यूं तो सांसद और गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी के रूप में उनका कई बार आगरा आना-जाना हुआ है लेकिन, यह पहली बार होगा जब वह ताजमहल में भी जाएंगे। साथ ही हाल के दिनों में ताजमहल को लेकर विवादों का पटाक्षेप भी हो जाएगा। मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि ताज हमारी विरासत है। इसकी हिफाजत हमारी जिम्मेवारी है। ताज के संरक्षण के लिए सरकार ने विश्व बैंक की मदद से 370 करोड़ की कार्ययोजना बनायी है। इन पर काम भी चल रहा है।

मुख्यमंत्री सुबह करीब आठ बजे कछपुरा व मेहताब बाग में पूअर डेवलपमेंट प्रोजेक्ट का शिलान्यास करने के बाद वह आगरा फोर्ट जाएंगे। वहां से ताजमहल के बीच बने शाहजहां पार्क और टूरिस्ट वॉक वे का शिलान्यास करने के साथ उसका निरीक्षण भी करेंगे। ताज के पश्चिमी द्वार पर झाड़ू लगाकर मुख्यमंत्री लोगों को स्वच्छता का संदेश भी देंगे। यहीं पर एएसआई का पे्रजेंटेशन देखने के साथ ताज में कुछ समय भी गुजारेंगे।

इसे भी पढ़ें-  MP Cabinet Meeting: कैबिनेट मीटिंग में सीएम शिवराज ने वैक्सीनेशन महाअभियान पर सभी को दिया धन्यवाद, कहा अन्न के निःशुल्क वितरण का अभियान...

ताज के पूर्वी द्वार पर प्रस्तावित रबर चेक डैम का निरीक्षण करते हुए होटल ताज खेमा में बच्चों की चित्रकारी प्रतियोगिता का अवलोकन करेंगे। ताज ओरिएंटेशन सेंटर और मुगल म्यूजियम प्रोजक्ट होते हुए दोपहर करीब 12.10 पर राजकीय इंटर कालेज के मैदान पर जनसभा को संबोधित करेंगे। ईको टूरिज्म के लिहाज से कीठम पक्षी बिहार के विकास की संभावनाएं तलाशने वह पक्षी बिहार जाएंगे। वहां टूरिज्म गिल्ड एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे। शाम तक मुख्यमंत्री लखनऊ लौट आएंगे।

Advertisements