अंग्रेजी न आने से गगन ने लगाई थी फांसी

इस देश में अंग्रेजी जुबान नहीं क्लास है
ल लॉ यूनिवर्सिटी के गगन नामक छात्र ने मंगलवार की दोपहर हॉस्टल के कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।
गगन हिंदी में बहुत अच्छी पकड़ थी परंतु अंग्रेजी फर्राटे का नहीं बोल पाता था जिसके कारण लोगों से कम तर आकरहेथे ए गगन के पिता भी वकील थे । गगन खुद ही जज बनना चाहता था। कुलपति ने कमरे में पहुंचकर उन छात्रों का डर कम किया जो परेशान थे । कुछ छात्र भी डरे हुए थे मन में घटना को लेकर मानसिक अवसाद बना हुआ था।
यह है घटनाक्रम  धर्मशास्त्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के ने मंगलवार की दोपहर हॉस्टल के कमरे में गगन नामक छात्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। छात्र कुछ देर पहले ही यूनिवर्सिटी से क्लास अटेंड कर हॉस्टल लौटा था। हॉस्टल आते ही वह सीधे अपने कमरे में गया और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। तकरीबन एक घंटे बाद उसका रूम मेट हॉस्टल लौटा तो कमरे का दरवाजा बंद पाकर साथी को आवाज दी। कई बार दरवाजे को खटखटाया भीए लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। जिस पर उसने आसपास के छात्रों और यूनिवर्सिटी प्रशासन को मामले की जानकारी दी।
इसी बीच कुछ छात्रों ने दरवाजे के ऊपर लगे रोशनदान से अंदर झांककर देखा तो उनकी चीख निकल गई। बालाघाट निवासी विधि छात्र का शव पंखे के हुक के सहारे रस्सी से बनाए गए फंदे से लटक रहा था। यह देख छात्रों ने मामले की सूचना तत्काल पुलिस को दी। पुलिस ने छात्र के शव को फंदे से उतारने के बाद पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक छात्र कुछ दिनों से डिप्रेशन में था।