Advertisements

VIDEO-दो दिनों तक माधवनगर में बहेगी धर्म की गंगा, शोभायात्रा से हुआ बर्सी महोत्सव का आगाज

कटनी। सतगुरू बाबा माधवशाह, बाबा नारायण शाह साहिब का दो दिवसीय बर्सी मेला आज से शुरू हो गया। बर्सी महोत्सव का शुभारंभ भव्य शोभायात्रा के साथ हुआ। प्रातः 9 बजे बाबा माधवशाह दरबार से बैण्डबाजों की करतल ध्वनि के बीच शुरू हुई शोभायात्रा विभिन्न मार्गों से होती हुई हरे माधव दरबार साहिब स्थित शाही पंडाल पहुंचकर समाप्त हुई, जहां सतगुरू साहबान को विराजमान किया गया।

इसी के साथ दो दिवसीय बर्सी महोत्सव का आगाज हो गया। महोत्सव में देश के कोने-कोने से श्रद्धालु पहुंचे हैं, जिनके आवागमन और ठहरने की व्यवस्थाएं भी गई है। माधवनगर में बाबा माधवशाह, बाबा नारायण शाह साहिब का दो दिवसीय बर्सी महोत्सव आज 9 और कल 10 अक्टूबर को आयोजित किया गया है। आज से कल तक पूरा माधवनगर बाबा की भक्ति में लीन रहेगा। बर्सी महोत्सव में शामिल होकर बाबा ईश्वरशाह साहिब के दर्शन कर आर्शीवाद प्राप्त करने कटनी ही नहीं वरन पूरे देश से हजारों की संख्या में श्रद्घालु माधवनगर पहुंचे हैं। महोत्सव को लेकर पिछले एक पखवाड़े से तैयारियों का सिलसिला चल रहा था। बाबा ईश्वरशाह जी के सानिध्य में आयोजित बर्सी मेले में देश के कोने-कोने से आए श्रद्घालुओं ने बाबा के दरबार में हाजिरी लगाई।

गुरूद्वारे से शुरू हुई शोभायात्रा
इसके पहले सतगुरू बाबा ईश्वरशाह का काफिला बैंड-बाजों ढोल नगाड़ों, सेवादारों के साथ माधवनगर रेल्वे स्टेशन पहुंचा, जहां सतगुरू ईश्वरशाह ने दीप प्रज्जवलित कर वर्सी महोत्सव का शुभारंभ किया। इस दौरान जबलपुर-रीवा शटल ट्रेन की संगतों को आशीर्वाद प्रदान करने के बाद बाबा माधवशाह बाबा नारायणशाह गुरूद्वारा से शोभायात्रा प्रारंभ हुई। जिसमें सतगुरू सांई ईश्वरशाह साहिब सुज्जित रथ पर शोभायमान रहे। शोभायात्रा में सिंधू नौजवान मंडल के सेवादारों द्वारा लेजिम नृत्य, डांडिया, शैला नृत्य, भांगडा एंव अनेक प्रदेशों से आए युवा सेवादारों ने अपनी प्रस्तुतियां दी। हरे माधव रूहानी बाल संस्कार के नन्हें मुन्हें बच्चों द्वारा पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया।

बच्चों ने किया मार्च पास्ट
बच्चों द्वारा मार्च पास्ट कर सतगुरू जी का अभिनंदन किया गया। बाबा माधवशाह चिकित्सालय के सामने हरे माधव दरबार परिसर में आयोजित सुसज्जित पंडाल में पुष्पवर्षा एंव करतल ध्वनि से सतगुरू का स्वागत श्रद्धालुओं ने किया। बच्चों ने सतगुरू जी के पावन श्री चरणों में नमन गीत प्रस्तुत कर निर्मल भाव रखे और हरे माधव सत्संग में भजन कीर्तन का आनंद श्रद्धालुओं ने प्राप्त किया। मेले के मद्देनजर पुलिस और प्रशासन ने पुख्ता प्रबंध किए हैं। आधा सैकड़ा से अधिक पुलिस कर्मियों को मेला स्थल पर तैनात किया गया है। विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाएं सेवाकार्यों में जुटी हुई हैं। रेल्वे स्टेशन तथा बस स्टैण्ड पर बाहर से आने वाले भक्तों को मेला स्थल तक ले जाने की व्यवस्था की गई है।

इन शहरों से आए श्रद्धालु
बर्सी महोत्सव में दिल्ली, कोल्हापुर, सांगली, मिरज, कल्याण, पनवेल, पिंपरी, पुणे, बैगलूर, करीम नगर, इरोड, सेलम, चेन्नई, अमरावती, लालबर्रा, अकोला, भुसावल, गोंदिया, तुमसर, नागपुर, जबलपुर, छिंदवाड़ा, वर्धा, हिंगणघाट, चंद्रपुर, मुम्बई, उलहासनगर, नासिक, वाशिम, मुर्तिजापुर, मल्कापुर, परतवाड़ा, कारंजा, नांदुरा, बालाघाट, लाखनी, शोलापुर, भण्डारा, मण्डला, नैनपरु, वारासिवनी, सिवनी, जलगांव, कोचेवाही, सूरत, अहमदाबाद, इंदौर, कानपुर, कोटा, जयपुर, अजमेर, सहित देश-विदेश के अनेक शहरों से श्रद्धालु माधवनगर पहुंचे, जिनके ठहरने, खाने की व्यवस्था बाबा माधवशाह भवन, बाबा नारायणशाह भवन, मनोहरशाह भवन, हरे नारायण भवन, सिंधु भवन, सिंधु सदन, गुरूनानक धर्मशाला, आत्म मंगल भवन, पंजाबी, सनातन धर्मशाला, डायमंड स्कूल, डायमंड कॉलेज एम.ई.एस धर्मशाला, बाबा आत्माराम धर्मशाला, नारायणशाह मैरिज गार्डन, अर्जुन पैलेस में की गई।

श्रद्धालुओं को मिल रही निःशुल्क चिकित्सा सुविधा
वर्सी महोत्सव में आने जाने के लिए निःशुल्क वाहन व्यवस्था की सुविधा उपलब्ध करायी गई। कटनी रेल्वे स्टेशन, माधवनगर रेल्वे स्टेशन, मुड़वारा रेल्वे स्टेशन, कटनी साऊथ रेल्वे स्टेशन पर सूचना एवं स्वागत कक्ष बनाये गये हैं। बाबा माधवशाह चिकित्सालय में निःशुल्क चिकित्सा सेवा और रियायती दर पर कई स्थानों पर कैंटीन एवं रेल्वे टिकट एवं आरक्षण की सुविधा सत्संग स्थल पर उपलब्ध करायी गई है। वर्सी महोत्सव में प्रशासन पुलिस प्रशासन, नगर निगम, रेल्वे प्रशासन, मप्र विद्युत मंडल द्वारा सेवाएं दी जा रही हैं। आयोजन में हरे माधव परमार्थ सत्संग समिति के अनेक शहरों ने सेवादार, लगभग 50 सामाजिक, व्यापारिक संगठनों ने अपनी सेवाएं दे रहे हैं। विभिन्न शहरों से सेवादार, लगभग 50 सामाजिक, व्यापारिक संगठनों ने अपनी सेवाएं दे रहे हैं। विभिन्न शहरों की हरे माधव समितियों ने भी सेवा लाभ प्राप्त किए। अनेक प्रकार के व्यंजन एवं फल-जूस का निःशुल्क वितरण कर रहे हैं।

Loading...