शहरी कब्जेधारियों को भू-स्वामी पट्टे देगी सरकार: राज्यमन्त्री संजय पाठक से चर्चा के बाद सीएम ने दिए निर्देश

Advertisements

भोपाल। शहरी क्षेत्र की नजूल भूमियों पर मकान बनाकर रहने वाले कब्जेधारियों को प्रदेश सरकार भू-स्वामी पट्टे देगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कल भोपाल में इस आशय के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिये हैं।

अब शहर की सरकारी जमीनों पर कब्जे कर रहने वालों को बेदखल नहीं किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों की तरह शहर के कब्जाधारी भी जमीन का मालिकाना हक प्राप्त कर सकेंगे। कल राजधानी भोपाल में प्रदेश शासन के राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने कब्जेधारियों की मांग से मुख्यमंत्री को अवगत कराया था जिस पर तत्काल निर्णय लेते हुए मुख्यमंत्री ने भू-स्वामी पट्टे की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिये।

उल्लेखनीय है कि कटनी जिले के 7 हजार से ज्यादा कब्जेधारियों की मांग थी कि उन्हें जमीन का मालिकाना हक दिया जाए। इसको लेकर जनसेवा समिति के अध्यक्ष छेदीलाल कोष्टा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोगों ने अनेक बार प्रदर्शन करते हुए कटनी के कचहरी चौक में लगभग एक सप्ताह धरना दिया है। इसके पहले बड़ी संख्या में एकत्रित होकर लोग अपनी इस मांग को लेकर राज्यमंत्री संजय पाठक से मिले थे। श्री पाठक को  कब्जेधारियों ने ज्ञापन भी सौंपा था।

श्री पाठक ने आश्वस्त किया था कि वे हजारों लोगों के भावनाओं से जुड़ी इस मांग को मुख्यमंत्री तक पहुंचायेंगे। इस बीच आंदोलन का नेतृत्व कर रहे छेदीलाल कोष्टा ने लगातार एक सप्ताह चले धरने के बाद आत्मदाह की घोषणा कर दी। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में तहसीलदार एवं नगर पुलिस अधीक्षक ने आत्मदाह रोकने के लिए श्री कोष्टा से बात की, लेकिन वे प्रदेश सरकार से कोई जवाब मिलने की बात पर अड़े थे। इसके उपरांत तहसीलदार ने छेदीलाल कोष्टा की बात प्रदेश शासन के राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक से कराई। श्री पाठक ने मोबाइल पर ही आश्वासन दिया कि 1 अक्टूबर को मुख्यमंत्री जी से उनकी मुलाकात होगी और वे इस मांग से उन्हें अवगत करायेंगे। कल भोपाल में मुख्यमंत्री से मुलाकात के दौरान राज्यमंत्री संजय पाठक ने कब्जेदारों द्वारा दिया गया मांग पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा और उन्हें सारी स्थितियों से अवगत कराया। इस पर तत्काल निर्णय लेते हुए मुख्यमंत्री ने राजस्व अधिकारियों को निर्देशित कर दिया कि शहरी कब्जेधारियों को भी भू-स्वामी पट्टा देने की प्रक्रिया शुरू की जाए।

खबर के बाद हर्ष, मंत्री का जताया आभार

राज्यमंत्री संजय पाठक के प्रयासों के बाद सीएम की इस घोषणा से आंदोलन कर रहे  7 हजार से ज्यादा लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई। शासकीय भूमि पर अवैध माने जाने वाले कब्जेधारियों को उम्मीद जागी है कि उन्हें उस स्थान का मालिकाना हक मिल जाएगा  जहां वे वर्षोंं से काबिज हैं। जनसेवा समिति के अध्यक्ष छेदीलाल कोष्टा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं राज्यमंत्री संजय पाठक का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि राज्यमंत्री ने हजारों लोगों की भावनाऐं समझते हुए जो प्रयास किए हैं वे सराहनीय है।

Advertisements