किसान की बेटी ने एनआरआई महिलाओं को पछाड़ सौंदर्य में जीता ताज

भिवानी: हरियाणा प्रदेश में स्थित छोटी काशी भिवानी की रहने वाली डॉ. सरोज ने देश की 20 हजार सुंदरियों को पछाड़कर मिसेज इंडिया वर्ल्डवाइड 2018 के फाइनल राउंड को फतेह कर मिसेज इंडिया वर्ल्डवाइड 2018 का ख़िताब अपने कब्जे में किया। फ़ाइनल राउंड में सरोज देश व विदेश की 88 महिलाओं को सौंदर्य में पछाड़ती हुई पहले पायदान पर पहुंची है। आज प्रथम पुरस्कार प्राप्त कर अपने घर पहुंची तो उनका परिजनों व भिवानी वासियों ने भव्य स्वागत किया।

सरोज बचपन से ही आसमान में उड़ने का ख्वाब लेकर बड़ी हुई। साथ ही शिक्षा, खेल ,चिकित्सा के साथ सौंदर्य के रैम्प पर भी अपना कदम आगे बढ़ाया। उन्होंने मुकाबले के लिए पहले ही चरण में अपना नाम अपनी प्रतिभा के बल पर दर्ज करवा लिया था। अब फ़ाइनल राउंड को भी सरोज ने प्रथम स्थान प्राप्त कर जीत लिया है। डॉ. सरोज वर्तमान में दन्त चिकित्सक है और भाजपा किसान नेता स्व.ओमप्रकाश मान की बेटी है। जिन्होंने अपने परिवार व ससुराल के सहयोग से यह मुकाम हासिल किया है।

सरोज ने बताया कि पहले उनका मुकाबला देश व विदेश की करीब 20 हजार महिलाओं के बीच में रहा और अब उन्होंने फ़ाइनल मुकाबला भी प्रथम स्थान से जीत लिया है। फाइनल राउंड 21 सितम्बर को जवारलाल नेहरु स्टेडियम में हुआ है। भिवानी की बेटी सरोज ने कहा कि उन्हें ख़ुशी है कि वे इसका हिस्सा बनीं। यहां तक पहुंचने में उनके पति, ननदों और सास का भी बड़ा योगदान है। उनके पिता सहित उनके सात भाईयों ने भी हमेशा उनको आगे बढ़ने की प्रेरणा दी है।

सरोज ने कहा कि उनके पति जज हैं और उनके पिता किसान रहे हैं। उन्होंने यह ख़ुशी अपने परिवार के साथ मनाई है और सरोज की मां और सातों भाईयों, चाचा, चाची, ताई, भाभी, भुवा व बहनों ने भी सरोज को मिठाई खिलाकर आगे बढ़ने का आशीर्वाद दिया है। सरोज ने बताया कि देश से बाहर सिंगापूर, थाईलैंड, यूएसए सहित अन्य देश से भी एनआरआई महिला प्रतिभागी भी प्रतियोगिता में शामिल थे।