दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना “आयुष्मान भारत” का आज PM करेंगे शुभारम्भ, जानिये कैसे मिलेगा लाभ

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना “प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना” का शुभारंभ करेंगे। इसके तहत देश के 10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को सालाना पांच लाख रुपये तक की मुफ्त और कैशलेस इलाज की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

दिल्ली, ओडिशा और तेलंगाना को छोड़कर सभी राज्य इस योजना में शामिल हो गए हैं। देश की लगभग 40 फीसद आबादी को लाभांवित करने वाली यह योजना अगले लोकसभा चुनाव में गेमचेंजर साबित हो सकती है। “प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना” से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस योजना के तहत आने वाले गरीब परिवार के सदस्यों को पांच लाख रुपये तक के इलाज के लिए कोई खर्च नहीं करना पड़ेगा।

योजना से जुड़े सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में आयुष्मान मित्र की नियुक्ति की गई है। इसके साथ ही इस योजना में आने वाले परिवारों को प्रधानमंत्री की ओर से पत्र भेजा जा रहा है। जिसमें पूरे परिवार को सालाना पांच लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की जानकारी दी गई है। साथ ही लाभार्थियों का पूरा ब्योरा एक आइटी प्लेटफार्म पर भी उपलब्ध करा दिया गया है।

बीमारी की स्थिति में गरीब आदमी के अस्पताल पहुंचने के बाद आयुष्मान मित्र ऑनलाइन प्लेटफार्म से उसकी जांच करेगा और अस्पताल को इसके बारे में जानकारी दे देगा। अस्पताल गरीब आदमी से कोई पैसा नहीं लेगा और उसका इलाज बिल्कुल मुफ्त किया जाएगा। इलाज के बाद उसे घर तक पहुंचाने का खर्च भी इस योजना के तहत वहन किया जाएगा।

अधिकारी ने कहा कि तेलंगाना, ओडिशा और दिल्ली को छोड़कर सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश इस योजना में शामिल हो गए हैं। पूर्वोत्तर और पहाड़ी राज्यों में इस योजना पर आने खर्च का 90 फीसद केंद्र सरकार वहन करेगी, जबकि बाकि राज्यों में 60 फीसद योगदान केंद्र सरकार का होगा। योजना के लाभार्थियों की मदद के लिए सरकार ने बेवसाइट के साथ-साथ टॉल-फ्री नंबर भी जारी किया है। इस योजना के तहत गरीब लोगों की पुरानी से पुरानी बीमारियों का इलाज किया जाएगा।

सरकार ने इलाज के लिए विभिन्न बीमारियों के 1354 पैकेज तैयार किए हैं। इलाज के बाद अस्पतालों को इसी के हिसाब से पेमेंट किया जाएगा। इनमें बाइपास सर्जरी से लेकर घुटना प्रत्यारोपण तक कई बीमारियां शामिल हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस साल बजट में आयुष्मान भारत की घोषणा की थी। “प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना” इसका हिस्सा है। इसके अलावा आयुष्मान भारत के तहत पूरे देश में 1.5 लाख आरोग्य केंद्र भी खोले जा रहे हैं।

खास बातें

  • योजना से जुड़े सरकारी और निजी अस्पतालों में आयुष्मान मित्र नियुक्त
  • लाभार्थियों का पूरा ब्योरा एक आइटी प्लेटफार्म पर उपलब्ध

  • अस्पताल पहुंचने पर आयुष्मान मित्र आइटी प्लेटफार्म से करेगा मरीज का मिलान

  • इसके बाद अस्पताल को देगा इसकी जानकारी

  • अस्पताल गरीब आदमी से नहीं लेगा कोई पैसा

  • इलाज के बाद घर तक पहुंचाने का खर्च भी योजना में शामिल

  • लाभार्थियों की मदद के लिए बेवसाइट के साथ टॉल-फ्री नंबर भी उपलब्ध

  • गरीब लोगों की पुरानी से पुरानी बीमारी का किया जाएगा इलाज