चित्रकूट में 6 घण्टे चला दल बदलने का राजनीतिक ड्रामा

सतना। चित्रकूट के दिवंगत विधायक प्रेम सिंह के भतीजे मंगल सिंह को लेकर मंगलवार को राजनीतिक ड्रामा चलता रहा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार व सांसद गणेश सिंह और पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह गहरवार दोपहर लगभग एक बजकर 15 मिनट मंगल सिंह के घर पहुंचे और उन्हें माला पहनाकर भाजपा में शामिल होने की घोषणा कर दी।

अजय सिंह के साथ प्रेम सिंह

भाजपा अपनी इस जीत पर खुशी मना रही थी कि छह घंटे बाद ही मामला पलट गया। मंगल के साथ इस बार नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल दिख रहे थे। मंगल सिंह कह रहे थे कि कांग्रेस उनके लिए सबकुछ है। नेता प्रतिपक्ष उनके गुरु हैं। भले ही प्राण चले जाएं, लेकिन वह कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे। नंदकुमार चौहान घर आए थे, उन्होंने माला पहनाई तो हमने भी माला पहना दी। इस पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा गुमराह करने की राजनीति करती है। मंगल भाजपा में गए ही नहीं थे।

क्या कहा नेताओं ने

भाजपा की यह नीति रही है कि वह किसी तरह झूठ बोलकर अपना काम साध ले, मंगल सिंह पुराने कांग्रेसी हैं। वे कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गए ही नहीं थे।

-अजय सिंह राहुल, नेता प्रतिपक्ष

मेरे घर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान आए थे। उन्होंने मुझे माला पहनाई, मैंने भी उन्हें माला पहनाई। अतिथि थे, मैं क्षत्रिय हूं, मैंने उनका स्वागत किया। लेकिन मैंने भाजपा ज्वाइन नहीं की। मेरे प्राण भी चले जाएं लेकिन मैं कांग्रेस नहीं छोड़ूंगा।

-मंगल सिंह, स्व. प्रेम सिंह के भतीजे

Hide Related Posts